राहुल ने लद्दाख पर पूछे सवाल, जयशंकर बोले- 1962 में चीन ने कब्जा किया

कांग्रेस नेता राहुल गांधी अक्सर चीन मुद्दे पर बीजेपी को घेरते रहते हैं। लद्दाख में एक सीनियर ऑफिसर की रिपोर्ट का हवाला देते हुए राहुल ने कहा कि भारत ने 65 में से 26 पेट्रोलिंग पॉइंट्स को खो दिया है

कांग्रेस नेता राहुल गांधी अक्सर चीन मुद्दे पर बीजेपी को घेरते रहते हैं। लद्दाख में एक सीनियर ऑफिसर की रिपोर्ट का हवाला देते हुए राहुल ने कहा कि भारत ने 65 में से 26 पेट्रोलिंग पॉइंट्स को खो दिया है। यानी इन पर अब चीन का कब्जा है। विदेश मंत्री एस जयशंकर ने बिना नाम लिए राहुल गांधी पर तंज कसा है। उन्होंने कहा कि 1962 में जवाहरलाल नेहरू के पीएम रहते चीन ने भारत के कुछ इलाकों पर कब्जा किया था। उन्होंने कहा, कभी-कभी कुछ लोग ऐसी खबरें फैलाते हैं कि जिसे वो जानते हैं कि यह गलत है। वे इसे ऐसे पेश करते हैं जैसे कि यह अभी हुआ है, जबकि यह वास्तव में 1962 में हुआ था।
भारत मार्ग की लॉन्चिंग के दौरान जयशंकर से कुछ सवाल
पुणे में अपनी किताब द इंडिया वे के मराठी अनुवाद भारत मार्ग की लॉन्चिंग के दौरान जयशंकर से कुछ सवाल किए गए। इसी दौरान उनसे चीन को लेकर सवाल पूछा। इसके जवाब में उन्होंने कहा कि सवाल-जवाब सत्र के दौरान यह बात कही। उन्होंने भारत-पाकिस्तान के बीच सिंधु नदी जल समझौते (आईडब्ल्यूटी) को लेकर कहा कि यह एक तकनीकी मामला है और दोनों देशों के सिंधु आयुक्त इस मुद्दे पर एक-दूसरे से बात करेंगे।
जानबूझकर गलत जानकारी फैलाते हैं कुछ लोग- जयशंकर
भारत-चीन के बीच पूर्वी लद्दाख में सैन्य गतिरोध को लेकर कुछ लोगों या राजनीतिक दलों के नेताओं के भारत सरकार पर विश्वास की कमी के बारे में पूछे जाने पर विदेश मंत्री ने कहा कि विपक्ष में कुछ लोग हैं जिनकी ऐसी सोच है जिसे समझना उनके लिए बेहद मुश्किल है। हालांकि, उन्होंने कहा कि कभी-कभी ऐसे लोग जानबूझकर चीन के बारे में गलत खबरें या जानकारी फैलाते हैं।
मैं कैसे इनका जवाब दे सकता हूं- जयशंकर
जयशंकर ने कहा, अगर आप पूछना चाहते हैं कि उन्हें भरोसा क्यों नहीं है? वे लोगों को गुमराह क्यों कर रहे हैं, चीन के बारे में गलत खबर क्यों फैला रहे हैं? मैं इन सवालों का जवाब कैसे दे सकता हूं? क्योंकि मैं जानता हूं कि वे भी राजनीति कर रहे हैं। कभी-कभी वो जानबूझकर ऐसी खबरें फैलाते हैं और वो जानते हैं कि यह सच नहीं है। विदेश मंत्री ने किसी का नाम लिए बिना कहा, कभी-कभी वे कुछ जमीन की बात करते हैं, जिसे चीन ने 1962 में ले लिया था। लेकिन वो आपको सच नहीं बताएंगे। वो आपको यह आभास कराएंगे कि यह घटना कल ही हुई थी।
सीनियर पुलिस ऑफिसर्स की रिपोर्ट पर बवाल
लद्दाख रीजन की रिपोर्ट पर कुछ नेताओं ने बयानबाजी की थी। राहुल गांधी ने भी लद्दाख में एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी की एक रिपोर्ट का हवाला दिया है, जिसमें कहा गया है कि भारत ने पूर्वी लद्दाख में 65 में से 26 पेट्रोलिंग पॉइंट गंवा दिए हैं। ये रिपोर्ट दिल्ली में देश के शीर्ष पुलिस अधिकारियों के एक सम्मेलन में दायर की गई थी। इसमें पीएम नरेंद्र मोदी, गृह मंत्री अमित शाह और राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल ने भाग लिया था।
जयशंकर ने कहा कि अगर मुझे (चीन पर) कुछ जानने की जरूरत है तो मैं इनपुट लेने के लिए चीनी राजदूत के पास नहीं जाऊंगा, बल्कि अपने सैन्य नेतृत्व के पास जाऊंगा। राहुल गांधी ने चीनी राजदूत से मुलाकात करने के मामले में कहा था कि महत्वपूर्ण मुद्दों पर जानकारी प्राप्त करना मेरा काम है। मैं चीनी राजदूत, (भारत के) पूर्व-एनएसए (राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार), एनई (पूर्वोत्तर) के कांग्रेस नेताओं और भूटानी राजदूत से मिला।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

19 + 9 =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।