नकलविहीन Board exam के लिए UP सरकार ने कासी कमर

उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद की Board exam के लिए सरकार ने तैयारी कर ली है। परीक्षा नकलविहीन हो इसके लिए मास्टर ट्रेनर केंद्र व्यवस्थापकों को परीक्षा व्यवस्था का प्रशिक्षण दे रहे हैं। विश्वसनीय सूत्रों के अनुसार, परीक्षा के दौरान कोई गलती न हो, यह सुनिश्चित करने के लिए केंद्र के प्रबंधक परीक्षा के हर छोटे पहलू पर प्रशिक्षण प्राप्त कर रहे हैं। यह जानकारी बुधवार को सामने आई।

nakal

Highlights:

  • परीक्षाएं 22 फरवरी से शुरू होकर नौ मार्च तक चलेंगी
  • प्रदेश भर में कुल 8265 परीक्षा केंद, बनाए गए हैं
  • कक्ष निरीक्षकों के लिए एक सुरक्षित क्यूआर कोड भी जारी किया जा रहा है

उल्लेखनीय है कि यूपी बोर्ड की परीक्षाएं 22 फरवरी से शुरू होकर नौ मार्च तक चलेंगी। इस बार हाईस्कूल परीक्षा में 29 लाख 47 हजार 325 और इंटरमीडिएट परीक्षा में 25 लाख 77 हजार 965 समेत कुल 55 लाख 25 हजार 290 परीक्षार्थियों ने रजिस्ट्रेशन कराया है। बोर्ड की ओर से प्रदेश भर में कुल 8265 परीक्षा केंद, बनाए गए हैं, जिनमें राजकीय परीक्षा केंद्रों की संख्या 566 है, सवित्त परीक्षा केंद, 3479 और वित्तविहीन 4220 परीक्षा केंद, हैं। उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद के सचिव दिव्यकांत शुक्ल ने बताया कि हर बार की तरह इस बार भी बोर्ड परीक्षा में कुछ नए इनीशिएटिव्स लिए जा रहे हैं। इसी क्रम में परीक्षाओं को नकलविहीन बनाने और बिना किसी त्रुटि के संपन्न कराने के लिए केंद, व्यवस्थापकों को परीक्षाओं की व्यवस्था से संबंधित प्रशिक्षण देने का निर्णय किया गया है।

pariksha

प्रदेश के सभी 75 जिलों में यह प्रशिक्षण चल रहा है। प्रत्येक जिले के लिए तीन मास्टर्स ट्रेनर्स की नियुक्ति की गई है, जो ऑडियो-वीडियो प्रेजेंटेशन के माध्यम से केंद, व्यवस्थापकों को परीक्षाओं से संबंधित हर बारीक जानकारी मुहैया करा रहे हैं। इसमें उन्हें नकल रोकने, व्यवस्था बनाए रखने, प्रश्नपत्रों की सिक्योरिटी, उत्तर पुस्तिकाओं की देखरेख समेत अन्य सभी महत्वपूर्ण विषयों के बारे में प्रशिक्षित किया जा रहा है।

शुक्ल ने बताया कि इसके अतिरिक्त इस बार कुछ और नई व्यवस्थाएं लागू की जा रही हैं। इनमें पहली बार उत्तर पुस्तिकाओं में सुरक्षात्मक क्यूआर कोड, लोगो, कवर पेज पर उनकी कोडिंग की गई है, जबकि पेज नंबर के साथ-साथ इस बार पिछले वर्ष में उपयोग किए गए कलर्स से अलग चार कलर्स में इन्हें पब्लिश कराया गया है। इसके अलावा पहली बार कक्ष निरीक्षकों के लिए एक सुरक्षित क्यूआर कोड भी जारी किया जा रहा है। इसके साथ ही इस बार उन्हें क्रमांक युक्त कंप्यूटराइज्ड परिचय पत्र भी प्रदान किया जा रहा है, जिससे कक्ष निरीक्षकों के साथ समन्वय स्थापित करने में आसानी होगी।

 

देश और दुनिया की तमाम खबरों के लिए हमारा YouTube Channel ‘PUNJAB KESARI’ को अभी subscribe करें। आप हमें FACEBOOK, INSTAGRAM और TWITTER पर भी फॉलो कर सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

7 + 11 =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।