ट्रेन से चुराया तकिया या बिस्तर तो जाना पड़ सकता है जेल, साथ में जेब भी होगी खाली - Latest News In Hindi, Breaking News In Hindi, ताजा ख़बरें, Daily News In Hindi

लोकसभा चुनाव 2024

पहला चरण - 19 अप्रैल

Days
Hours
Minutes
Seconds

102 सीट

दूसरा चरण - 26 अप्रैल

Days
Hours
Minutes
Seconds

89 सीट

तीसरा चरण - 7 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

94 सीट

चौथा चरण - 13 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

96 सीट

पांचवां चरण - 20 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

49 सीट

छठा चरण - 25 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

57 सीट

सातवां चरण - 1 जून

Days
Hours
Minutes
Seconds

57 सीट

छठा चरण - 25 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

57 सीट

ट्रेन से चुराया तकिया या बिस्तर तो जाना पड़ सकता है जेल, साथ में जेब भी होगी खाली

भारतीय रेलवे में सालाना हजारों लोग सफर करते हैं। लोग रेलवे की बदौलत कई प्रकार की सुविधाओं का लाभ उठा सकते हैं। AC कोच में यात्रियों को चादर और तकिए समेत कई सुविधाएं मुहैया कराई जाती हैं। हालांकि, अक्सर देखा गया है कि यात्री ट्रेन से तकिए, चादर और तौलिए गायब कर देते हैं।

Untitled Project 2023 09 21T160503.385

ऐसी धारणा है कि यदि ऐसा किया गया तो रेलवे शायद कोई भी एक्शन न ले। हालाँकि, आज आपको बताते हैं कि रेलवे ने इस पर सख्ती कर दी है। रेलवे से चोरी करते हुए पकड़े जाने पर शख्स को जेल और जुर्माना हो सकता है। इसको लेकर रेलवे ने गाइडलाइन भी जारी कर दी हैं।

कितने समय के होगी सज़ा?

Untitled Project 2023 09 21T160621.907
यदि आप मानते हैं कि रेलमार्गों से सामान चोरी करना सरल है तो आप गलत हैं। क्योंकि रेलवे ने अब घोषणा की है कि सामान चोरी करने पर 5 साल की जेल की सजा के साथ-साथ जुर्माना भी देना होगा। इस तरह से सामान चोरी करना गैरकानूनी है। ऐसे यात्रियों को रेलवे संपत्ति अधिनियम 1966 के अनुसार परिणाम भुगतना होगा। इस अधिनियम के तहत कारावास की अधिकतम सजा पांच साल है।

रेलवे ने झेला लाखों का घाटा

Untitled Project 2023 09 21T160701.040
आपको बता दें कि इस साल यात्रियों की इन आदतों की वजह से रेलवे को लाखों रुपये का नुकसान हुआ। रेलवे के मुताबिक, यात्री बेडशीट और कंबल के अलावा चम्मच, केतली, नल और टॉयलेट बाउल भी चोरी कर लेते हैं, जिससे रेलवे को काफी पैसे का नुकसान होता है। क्योंकि हर साल लाखों लोग यात्रा करते हैं और उनके लिए बार-बार नया सामान तैयार करना पड़ता है।

कौन से रूट से सबसे ज्यादा सामान हुआ चोरी?

Untitled Project 2023 09 21T160803.379
जून में रेलवे द्वारा जारी एक रिपोर्ट के अनुसार, छत्तीसगढ़ क्षेत्र के बिलासपुर क्षेत्र से गुजरने वाली ट्रेनों से रेलवे का सामान नियमित रूप से चोरी हो जाता है। बिलासपुर और दुर्ग से चलने वाली लंबी दूरी की एक्सप्रेस ट्रेनों में कंबल, बेडशीट, तकिए के कवर और फेस टॉवल नियमित रूप से चोरी हो जाते हैं। इस रिपोर्ट के आधार पर अब तक लोग 56 लाख के आसपास चादर-कंबल गायब कर दिए हैं।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

twelve − 12 =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।