Search
Close this search box.

भव्य राम मंदिर परिसर में स्थापित हुआ जोधपुर से आया झूला

Jodhpur Jhula For Ramlalla

Jodhpur Jhula For Ramlalla: अयोध्या राम मंदिर में इन दिनों धार्मिक आयोजन चल रहा है। इनमें एक प्रकिया है मंडलोत्सव, जो मंदिर की प्राण प्रतिष्ठा (Jodhpur Jhula For Ramlalla) की अगले दिन से शुरू हुई है और 10 मार्च तक चलेगी।

हर शाम 4 बजे रामलला की परिक्रमा होती है शुरू

आपको बताते चलें कि शाम 4 बजे रामलला की चांदी की मूर्ति को पालकी में बिठाकर मंदिर की परिक्रमा कराई जाती है। परिक्रमा के बाद रामलला झूले (Jodhpur Jhula For Ramlalla) में विराजित होते हैं। यह कार्यक्रम श्री विश्वप्रसन्ना तीर्थ स्वामी जी पेजावर मठ एवं राम जन्मभूमि तीर्थ ट्रस्टी के निर्देशन में दो घंटे तक चलता है।

जोधपुर से आया है रामलला का झूला

खास बात यह है कि जिन दो घंटों तक रामलला जिस झूले में विराजते है वह जोधपुर से आया है, जिसे 7 फरवरी को हो वहां स्थापित किया गया। राम मंदिर परिसर में इस झूले (Jodhpur Jhula For Ramlalla) के स्थापित होने की कहानी भी रोचक है। दरअसल जोधपुर में हैंडीक्राफ्ट के एक्सपोर्टर रॉयल अम्बिएंस के अजय पाल सिंह की फैक्ट्री में विशेष रूप से झूले ही बनाए जाते हैं।

ऑनलाइन वेबसाइट पर पसंद किया झूला

जानकारी के मुताबिक ऑनलाइन रॉयल अम्बिएंस की वेबसाइट पर झूला पसंद आया तो अजय पाल सिंह के पास कॉल आया। अजय पाल ने बताया कि पहले तो उनको विश्वास नहीं हुआ कि वाकई कॉल ट्रस्ट से आया है। फिर उन्होंने पुष्टि की, इसके बाद उनसे कोटेशन मांगे गए। इस पर अजय पाल सिंह ने (Jodhpur Jhula For Ramlalla) कोटेशन देने से इंकार कर दिया, ट्रस्ट से कहा कि यह तो हमारा सौभाग्य है। हमें भगवान राम की सेवा का मौका मिला है। उल्लेखनीय है कि राम लला की आरती के लिए भी 600 किलो शुद्ध देशी घी भी जोधपुर की गौशाला से गया है।

देश और दुनिया की तमाम खबरों के लिए हमारा YouTube Channel ‘PUNJAB KESARI’ को अभी subscribe करें। आप हमें FACEBOOK, INSTAGRAM और TWITTER पर भी फॉलो कर सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

fourteen + twelve =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।