इस पक्षी को कहते है पक्षियों का ‘कुंभकर्ण’, दिन में 10 हजार बार लेता है झपकी

Chinstrap Penguin

Chinstrap Penguin : कभी-कभी, जब हम थका हुआ या ऊब महसूस करते हैं, तो हम दिन के दौरान थोड़ा आराम करते हैं जिसे झपकी कहा जाता है। हम ऐसा तब कर सकते हैं जब हम किसी उबाऊ मीटिंग में हों, ट्रेन में हों या घर पर टीवी देख रहे हों।

Untitled Project 2023 12 02T160621.877

हम आराम करने के लिए कुछ सेकंड के लिए अपनी आँखें बंद कर लेते हैं। लेकिन चिनस्ट्रैप पेंगुइन (Chinstrap penguins) और भी अधिक अद्भुत हैं। वे दिन में लगभग 10,000 बार अपनी आँखें झपकाते हैं, लेकिन हर बार उनकी पलकें केवल 4 सेकंड तक ही झपकती हैं।

एक दिन में इतनी नींद लेते है पेंगुइन

Courtesy : वीडियो को एक्स पर @Rainmaker1973 नाम के अकाउंट ने शेयर किया

ये पक्षी दिन में 11 घंटे से ज्यादा सोते हैं, जो बहुत है। ऐसे में इन्हें पक्षियों का कुंभकर्ण खा जाए तोह ये बिल्कुल गलत नहीं होगा। इस तरह ये सबसे आलसी पक्षी है जो बाकि सभी पक्षियों को आलस में पछाड़ देता है। पेंगुइन को बहुत अधिक सोने की ज़रूरत होती है, लेकिन वे यह सब एक बार में नहीं करते। इसके बजाय, वे पूरे दिन छोटी-छोटी झपकियाँ लेते हैं। वे एक बार में लगभग 4 सेकंड के लिए सो जाते हैं और ऐसा कई बार करते हैं। इस तरह, वे पर्याप्त नींद ले सकते हैं और फिर भी अपने घोंसलों की निगरानी कर सकते हैं।

रिमोट इलेक्ट्रोएन्सेफलोग्राम मॉनिटरिंग भी की इस्तेमाल

Chinstrap Penguin
Chinstrap Penguin

ल्योन न्यूरोसाइंस रिसर्च सेंटर (Lyon Neuroscience Research Centre) और कोरिया पोलर रिसर्च इंस्टीट्यूट के वैज्ञानिकों ने अध्ययन किया कि चिनस्ट्रैप पेंगुइन कैसे सोते हैं। उन्होंने अंटार्कटिका में पेंगुइनों को देखा और यह देखने के लिए विशेष उपकरणों का उपयोग किया कि जब वे सोते हैं तो उनके दिमाग में क्या होता है और वे अपनी आँखें कैसे बंद करते हैं। ऐसा करने के लिए उन्होंने रिमोट इलेक्ट्रोएन्सेफलोग्राम मॉनिटरिंग का भी इस्तेमाल किया। एक अध्ययन में पाया गया कि चिनस्ट्रैप पेंगुइन हमारी तरह लंबे समय तक नहीं सोते हैं। इसके बजाय, वे दिन भर में बहुत सारी छोटी-छोटी झपकियाँ लेते हैं, जिन्हें ‘माइक्रोस्लीप्स’ कहा जाता है। प्रत्येक झपकी केवल चार सेकंड तक चलती है। दो विश्वविद्यालयों के विशेषज्ञ इस निष्कर्ष से सहमत हैं।

देश और दुनिया की तमाम खबरों के लिए हमारा YouTube Channel ‘PUNJAB KESARI’ को अभी subscribe करें। आप हमें FACEBOOK, INSTAGRAM और TWITTER पर भी फॉलो कर सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

15 + 11 =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।