फंस गए हैं Credit Card के कर्ज जाल में? तो इन आसान ट्रिक्स से निकलें बाहर, जानिए पूरी डिटेल

आज की भागदौड़ भरी जिंदगी में सबको आसान तरीके से काम करने की जल्दी है। ऐसे में तेजी से बदलते समय के साथ बैंकिंग क्षेत्र में भी कई बड़े बदलाव हुए हैं।

आज की भागदौड़ भरी जिंदगी में सबको आसान तरीके से काम करने की जल्दी है। ऐसे में तेजी से बदलते समय के साथ बैंकिंग क्षेत्र में भी कई बड़े बदलाव हुए हैं। क्रेडिट कार्ड और डेबिट कार्ड का इस्तेमाल पिछले कुछ सालों में तेजी से बढ़ा है। क्रेडिट कार्ड के जरिए लोग पहले शॉपिंग करते हैं और फिर कर्ज के बोझ तले दब जाते हैं।  
क्रेडिट कार्ड का पेमेंट समय पर न करने पर सबसे बड़ा नुकसान 
कई बार लोग क्रेडिट कार्ड (Credit Card) का इतना ज्यादा इस्तेमाल कर लेते हैं कि उसका बिल चुकाने में असमर्थ हो जाते हैं। क्रेडिट कार्ड का पेमेंट समय पर न करने पर सबसे बड़ा नुकसान यह होता है कि हमारा क्रेडिट स्कोर (Credit Score) खराब हो जाता है। ऐसे में क्रेडिट स्कोर खराब होने के बाद आगे हमें कहीं भी लोन लेने में परेशानी आती है। 
 
1651226963 cc2

देना पड़ता है 40 फीसदी तक सालाना जुर्माना 
क्रेडिट कार्ड बिल न चुकाने की स्थिति में ग्राहकों को भारी जुर्माना भी देना पड़ सकता है। ज्यादातर क्रेडिट कार्ड कंपनी ग्राहकों से बिल न चुकाने की स्थिति में करीब 40 फीसदी तक सालाना जुर्माना लेती है। ऐसे में यह एक कर्ज के जाल की तरह हो जाता है जिसमें ग्राहक फंसता ही जाता है। अगर आप भी क्रेडिट कार्ड के कर्ज के जाल में फंस गए हैं और इससे निकालना चाहते हैं तो हम आपको इस परेशानी से निकलने का रास्ता बताने वाले हैं। तो चलिए जानते हैं इस बारे में-  
अपनाएं यह आसान तरीका 
अगर आप क्रेडिट कार्ड के कर्ज के जाल में फंस गए हैं तो सबसे पहले अपनी कुल राशि को ईएमआई (EMI) में बदलें। एक साथ बड़ी राशि को जमा करने में आपको परेशानी का सामना करना पड़ सकता है। बहुत से बैंक बड़ी क्रेडिट कार्ड की राशि को छोटे हिस्सों में बांट देते हैं। इससे ग्राहकों को बिल चुकाने में आसानी होती है। साथ ही इस पर ब्याज भी कम लगता है।  
पहले जरूर पता कर लें ये चीजें 
ज्यादातर लोगों के साथ यह दिक्कत होती है कि क्रेडिट कार्ड पर बहुत ज्यादा ब्याज लगता है। ऐसे में बिल चुकाना उनके लिए बहुत मुश्किल भरा हो सकता है। ऐसे में आप अपने क्रेडिट कार्ड बिल को कम ब्याज दर वाली कंपनी में ट्रांसफर कर सकते है। कई बार बहुत सी कंपनियां किसी पुराने क्रेडिट कार्ड के बिल को ट्रांसफर करने की सुविधा देती है। ऐसे में आप पुराने कंपनी के लगने वाले अतिरिक्त ब्याज से बच सकते है। लेकिन,किसी नई कंपनी में में क्रेडिट कार्ड बिल ट्रांसफर करने से पहले उसके चार्ज और फीस के बारे में सही तरीके से जरूर पता कर लें।  
पर्सनल लोन है फायदेंमंद 
इसके अलावा आप क्रेडिट कार्ड के कर्ज से निकलने के लिए पर्सनल लोन का ऑप्शन चुन सकते हैं। ज्यादा पर्सनल लोन करीब 11 प्रतिशत होता है। वहीं ज्यादातर क्रेडिट कार्ड का बिल न चुकाने की स्थिति में आपको इस पर करीब 40 प्रतिशत का ब्याज दर देना पड़ता है। ऐसे में आप सबसे पहले पर्सनल लोन लेकर पहले बिल चुका लें। इसके बाद पर्सनल लोन धीरे-धीरे चुकाए। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

4 × 1 =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।