Share Market Latest News: वैश्विक शेयर बाजार के लगा बड़ा झटका, भारतीय शेयर में आई भारी गिरावट

लोकसभा चुनाव 2024

पहला चरण - 19 अप्रैल

Days
Hours
Minutes
Seconds

102 सीट

दूसरा चरण - 26 अप्रैल

Days
Hours
Minutes
Seconds

89 सीट

तीसरा चरण - 7 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

94 सीट

चौथा चरण - 13 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

96 सीट

पांचवां चरण - 20 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

49 सीट

छठा चरण - 25 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

57 सीट

सातवां चरण - 1 जून

Days
Hours
Minutes
Seconds

57 सीट

पांचवां चरण - 20 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

49 सीट

वैश्विक शेयर बाजार के लगा बड़ा झटका, भारतीय शेयर में आई भारी गिरावट

Share Market Latest News

Share Market Latest News: मध्य पूर्व में बढ़ते तनाव पर वैश्विक चिंताओं को दर्शाते हुए, शेयर बाजार ने सोमवार को नकारात्मक क्षेत्र में कारोबार शुरू किया। शुरुआती घंटी बजते ही, Sensex और Nifty दोनों सूचकांकों में गिरावट आई, जो भू-राजनीतिक अनिश्चितताओं के बीच निवेशकों की आशंका को दर्शाता है।

Highlights

  • इजरायल-ईरान के बीच बढ़ा तनाव
  • वैश्विक शेयर बाजारों में झटका
  • भारतीय शेयर बाजारों में गिरावट आई

भारतीय शेयर में गिरावट

इजरायल-ईरान के बीच तनाव बढ़ता जा रहा है, जिसके चलते इसका असर वैश्विक शेयर बाजार में देखने को मिल रहा है। वहीं भारतीय शेयर बाजार में भी इसका नाकारात्मक असर दिख रहा है। वता दें Sensex  887.82 अंक या 1.20 प्रतिशत गिरकर 73,357.08 पर आ गया, जबकि Nifty 181.75 अंक या 0.81 प्रतिशत गिरकर 22,337.65 पर आ गया।

market2 1

Nifty की 45 कंपनियों में आई गिरावट

उल्लेखनीय लाभ पाने वालों में हिंडाल्को, ओएनजीसी, टीसीएस, नेस्ले इंडिया और एचसीएल टेक्नोलॉजीज शामिल हैं, जबकि बीपीसीएल, कोल इंडिया, टाटा कंज्यूमर प्रोडक्ट्स, टाटा मोटर्स और अदानी एंटरप्राइजेज शीर्ष हारने वालों में से थे। मध्य पूर्व की स्थिति को लेकर चिंताओं, निराशाजनक बैंक आय और फेडरल रिजर्व द्वारा लंबे समय तक उच्च ब्याज दरों की उम्मीदों के बीच पूरे एशिया में इक्विटी को गिरावट के दबाव का सामना करना पड़ा, जो छह सप्ताह के निचले स्तर पर पहुंच गया। हांगकांग, जापान और दक्षिण कोरिया में प्रमुख बेंचमार्क में गिरावट दर्ज की गई, जबकि मुख्य भूमि चीन के ऊर्जा क्षेत्र में मामूली बढ़त देखी गई।

market3 1

वैश्विक बाजारों में कुछ स्थिरता देखी गई

प्रॉफिट आइडिया के संस्थापक और प्रबंध निदेशक, वरुण अग्रवाल ने कहा, “हालांकि इज़राइल पर अभूतपूर्व हमले के बाद वैश्विक बाजारों में कुछ स्थिरता देखी गई, तनाव स्पष्ट बना रहा। निहित संघर्ष की अटकलों के बीच तेल की कीमतों में थोड़ी राहत देखी गई, ब्रेंट क्रूड 90 अमेरिकी डॉलर के आसपास स्थिर हो गया।” इसके विपरीत, अमेरिका और ब्रिटेन द्वारा रूसी आपूर्ति पर नए प्रतिबंध लगाए जाने के बाद एल्युमीनियम और निकल की कीमतें बढ़ गईं। निवेशक लगातार मुद्रास्फीति और ब्याज दरों में बढ़ोतरी जैसी अनिश्चितताओं से गुज़र रहे हैं, मध्य पूर्व संकट के कारण अस्थिरता की एक परत जुड़ गई है।

market4 1

तेल की कीमतें 100 अमेरिकी डॉलर

तेल की कीमतें 100 अमेरिकी डॉलर प्रति बैरल से अधिक होने की आशंका है, साथ ही शेयर बाजार में गिरावट के साथ-साथ ट्रेजरी और सोना जैसी सुरक्षित-संपत्तियों की ओर पलायन की संभावना है। जैसे ही वॉल स्ट्रीट की कमाई का मौसम शुरू हुआ, अनिश्चित ब्याज दर प्रक्षेपवक्र के बीच अमेरिकी अर्थव्यवस्था की लचीलापन में अंतर्दृष्टि प्रदान करते हुए, जेपी मॉर्गन चेज़ एंड कंपनी, वेल्स फ़ार्गो एंड कंपनी और सिटीग्रुप इंक जैसे प्रमुख बैंकों ने मिश्रित परिणामों की सूचना दी, जो फंडिंग लागत के प्रभाव को दर्शाते हैं। और उच्च दर वाले वातावरण में उपभोक्ता व्यवहार।

जैसे-जैसे कारोबारी दिन आगे बढ़ता है, बाजार भागीदार सतर्क रहते हैं, भू-राजनीतिक विकास और वैश्विक बाजारों पर उनके प्रभाव की बारीकी से निगरानी करते हैं, साथ ही आगे के बाजार संकेतों के लिए कॉर्पोरेट आय का भी आकलन करते हैं।

नोट – इस खबर में दी गयी जानकारी निवेश के लिए सलाह नहीं है। ये सिर्फ मार्किट के ट्रेंड और एक्सपर्ट्स के बारे में दी गयी जानकारी है। कृपया निवेश से पहले अपनी सूझबूझ और समझदारी का इस्तेमाल जरूर करें। इसमें प्रकाशित सामग्री की जिम्मेदारी संस्थान की नहीं है। 

देश और दुनिया की तमाम खबरों के लिए हमारा YouTube Channel ‘PUNJAB KESARI’ को अभी subscribe करें। आप हमें FACEBOOK, INSTAGRAM और TWITTER पर भी फॉलो कर सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

three × 5 =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।