Astrology Tips: कर्ज मुक्ति का रामबाण उपाय है चींटियों को दाना देना

लोकसभा चुनाव 2024

पहला चरण - 19 अप्रैल

Days
Hours
Minutes
Seconds

102 सीट

दूसरा चरण - 26 अप्रैल

Days
Hours
Minutes
Seconds

88 सीट

तीसरा चरण - 7 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

94 सीट

चौथा चरण - 13 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

96 सीट

पांचवां चरण - 20 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

49 सीट

छठा चरण - 25 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

58 सीट

सातवां चरण - 1 जून

Days
Hours
Minutes
Seconds

57 सीट

सातवां चरण - 1 जून

Days
Hours
Minutes
Seconds

57 सीट

कर्ज मुक्ति का रामबाण उपाय है चींटियों को दाना देना

Astrology Tips

यह आवश्यक नहीं है सभी लोगों को बिजनेस में लगातार फायदा होता रहे। बहुत से प्रिय बंधु ऐसे भी हैं जिनके बिजनेस में लगातार नुकसान होने से बिजनेस बंद हो जाता है या लगातार घाटे में चलता है। ज्यादातर मामलों में यह पूर्व जन्म के अच्छे या बुरे कर्मों का प्रतिफल होता है। लेकिन ऐसा भी नहीं है कि समय बदलता नहीं है। यदि आप लगातार प्रयास करते रहेंगे तो निश्चित तौर पर जिस बिजनेस ने आपको नुकसान दिया है वही आपको प्रोफिट भी देगा। लेकिन बात इससे कुछ हट कर है कि जब ग्रह खराब हो तो लाभ कैसे होगा। यह बात पूर्णतः सत्य है कि जब ग्रह खराब हो तो बिजनेस में फायदा नहीं होता है। कुछ हद तक कर्ज भी हो जाता है। लेकिन घबराने की आवश्यकता नहीं है। यदि आप कर्जग्रस्त हो गये हैं। बिजनेस बंद हो गया है। रूपये आने के सभी रास्ते बंद हो चुके हैं तो यह एक अंतिम उपाय जरूर करें। यदि आप लगातार यह उपाय करेंगे तो निश्चित रूप से आपको नये रास्ते स्वतः ही दिखाई देंगे।

क्या करना चाहिए

यह उपाय न केवल सरल और सात्विक है बल्कि बहुत सस्ता भी है। जो भयंकर बुरी स्थिति में चल रहे हैं उनके भी बजट में यह उपाय आ जायेगा। आपको केवल उस स्थान की पहचान करनी है जहां चींटियों के बिल हों। फिर नीचे दिये गये तरीके से चिंटियों को लगातार दाना डालना है। यह धारणा वैदिक काल से चली आ रही है कि चिंटियों को दाना देने से सभी अकारक और खोटे ग्रहों की शान्ति होती है। जहां तक संभव हो वहां जाकर दाना डालें जहां आमतौर पर लोग बहुत कम जाते हैं या नहीं जाते हैं। हालांकि शहरों में ऐसा करना संभव नहीं होता है, लेकिन छोटे कस्बों में इस तरह के एरिया हमें मिल जाएंगे।

Also Read- यदि बिजनेस में सफलता चाहिए तो पन्ना धारण करें

चींटियों को क्या दाना डालें

सबसे पहले तो अपनी हस्तरेखाएं या जन्म कुण्डली के आधार पर यह निर्णय करें कि कौनसा ग्रह खराब है, जिसके कारण आपको कर्ज की समस्या है। हमेशा ध्यान रखें कि कारक ग्रह के दान और शान्ति कर्म नहीं किये जाते हैं। इस लिए सर्वप्रथम यह पहचान हो जानी आवश्यक है कि आप जिस ग्रह के लिए चिंटियों को दाना दे रहे हैं, वह वास्तव में कुण्डली या हाथों के आधार अशुभ और अकारक ग्रह है, जिसके कारण आपको कर्ज या परेशानी है। क्योंकि कई बार गलत ग्रह के दान और शान्ति होने से उसके शुभ फलों में ब्रेक लग जाते हैं। जब यह निश्चित हो जाए कि आपको किस ग्रह की शान्ति करवानी है तो नीचे दिये गये ग्रहों और उनसे संबंधित चीजों के मिश्रण को चींटियों को देना चाहिए।

सूर्य – गेहूं का दलिया।
चन्द्रमा – चावल का दलिया।
मंगल – गुड़ के साथ दलिया।
बुध – मूंग दाल का दलिया।
बृहस्पति – शहद मिला हुआ दलिया।
शुक्र – देशी घी मिला हुआ दलिया।
शनि – तेल मिला हुआ दलिया।
राहु – काले तिल मिला हुआ दलिया।
केतु – उड़द दाल का दलिया

इस बात में कोई शंका नहीं है। जो ग्रह खराब हो वह शांत होते हैं। जो कारक होकर बलहीन हों, वह बलवान बनते हैं और अच्छा फल देते हैं। इसलिए अपने दैनिक जीवन में चींटियों को दाना अवश्य डालना चाहिए। विशेष रूप से जो लोग किसी रोग विशेष से ग्रस्त हैं, कर्ज की समस्या है, बार-बार असफल हो रहे हैं, दांपत्य जीवन में समस्या है, इस तरह के लोगों को चींटियों को अवश्य दाना डालना चाहिए।यहां जो ग्रहों से संबंधित दाना बताया गया है उसमें दलिया आप गेहूं, ज्वार, बाजरा, चावल या जो भी अनाज आपको आसानी से उपलब्ध हो जाए, वह ले सकते हैं। लेकिन यहां ग्रहों आधार पर जो दूसरी चीज मिक्स करना बताया गया है वह मिक्स करके संबंधित ग्रह की सामग्री तैयार करें और उसे चींटियों को दें। यदि आपके पास कुछ भी उपलब्ध नहीं है तो किसी भी अनाज का दलिया दें और उस संबंधित ग्रह के मंत्र जाप करें। हमेशा ध्यान रखें कि कभी भी चींटियों को साबुत अनाज नहीं देना चाहिए। सभी चीज़ें मोटी पिसी हुई दलिए जैसी होनी चाहिए।

Astrologer Satyanarayan Jangid
WhatsApp- 6375962521

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

seven − 1 =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।