Air Force Chief ने नए विमान में भरी उड़ान, भारत पहुंचा पहला C-295 मिलिट्री ट्रांसपोर्ट एयरक्राफ्ट - Latest News In Hindi, Breaking News In Hindi, ताजा ख़बरें, Daily News In Hindi

लोकसभा चुनाव 2024

पहला चरण - 19 अप्रैल

Days
Hours
Minutes
Seconds

102 सीट

दूसरा चरण - 26 अप्रैल

Days
Hours
Minutes
Seconds

88 सीट

तीसरा चरण - 7 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

94 सीट

चौथा चरण - 13 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

96 सीट

पांचवां चरण - 20 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

49 सीट

छठा चरण - 25 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

58 सीट

सातवां चरण - 1 जून

Days
Hours
Minutes
Seconds

57 सीट

छठा चरण - 25 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

58 सीट

Air Force Chief ने नए विमान में भरी उड़ान, भारत पहुंचा पहला C-295 मिलिट्री ट्रांसपोर्ट एयरक्राफ्ट

इंडियन एयरफाॅर्स का पहला C-295 सैन्य परिवहन विमान भारत आ गया है। यह परिवहन विमान बुधवार दोपहर को गुजरात के वडोदरा स्थित एयरफाॅर्स स्टेशन पर उतरा। आपको बता दे कि इस विमान को एयरफाॅर्स के ग्रुप कैप्टन पीएस नेगी भारत लेकर आए हैं।
एयरफाॅर्स चीफ ने नए विमान में भरी उड़ान
इंडियन एयरफाॅर्स के लिए यूरोपीय कंपनी एयरबस डिफेंस एंड स्पेस से C-295 परिवहन विमान खरीदा गया है।
विमान को स्पेन में भारतीय वायु सेना को सौंप दिया गया। इसके लिए इंडियन एयरफाॅर्स के एयर चीफ मार्शल वी.आर. चौधरी स्पेन पहुंच गए थे। विमान की डिलीवरी लेने के बाद एयरफाॅर्स चीफ ने नए विमान में उड़ान भी भरी। और गुजरात पहुंचे विमान ने बहरीन से उड़ान भरी थी। साथ ही यह विमान माल्टा और मिस्र में रुकते हुए यह भारत पहुंचा।
कार्यक्रम के मुख्य अतिथि होंगे रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह , एयर चीफ मार्शल वीआर चौधरी रहेंगे मौजूद
इंडियन एयरफाॅर्स के अनुसार, C-295 विमान को 25 सितंबर को हिंडन स्टेशन पर औपचारिक रूप से एयरफाॅर्स में शामिल किया जाएगा। इस कार्यक्रम के मुख्य अतिथि रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह होंगे। कार्यक्रम में एयर चीफ मार्शल वीआर चौधरी मौजूद रहेंगे।
जानिए ! C-295 विमान की खासियतें
एयरफाॅर्स के मुताबिक, यह विमान शॉर्ट टेक-ऑफ और लैंडिंग कर सकता है। विशेषज्ञों के अनुसार, यह विमान महज 320 मीटर की दूरी पर उड़ान भर सकता है। इसे लैंडिंग के लिए सिर्फ 670 मीटर लंबाई की जरूरत होती है। ऐसे में यह विमान भारत-चीन सीमा के पास लद्दाख, कश्मीर, असम और सिक्किम जैसे पहाड़ी इलाकों में एयरफाॅर्स के ऑपरेशन में हिस्सा ले सकता है। यह विमान 5 से 10 टन तक वजन ले जा सकता है। विमान एक समय में 71 सैनिक, 44 पैराट्रूपर्स, 24 स्ट्रेचर या 5 कार्गो पैलेट ले जा सकता है। इसके साथ ही यह परिवहन विमान 480 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से 11 घंटे तक उड़ान भर सकता है।
एयरबस डिफेंस एंड स्पेस के साथ हुआ 56 विमानों का सौदा
एयरबस डिफेंस एंड स्पेस के साथ हुआ सौदा 56 विमानों के लिए है। इनमें से 16 विमानों का निर्माण स्पेन में किया जा रहा है, जबकि बाकी 40 विमानों का निर्माण गुजरात के वडोदरा में टाटा एडवांस्ड सिस्टम्स कंपनी द्वारा किया जाएगा। सितंबर 2021 में भारत ने यूरोपीय कंपनी एयरबस डिफेंस एंड स्पेस के साथ कुल 56 परिवहन विमानों के लिए लगभग 21,935 करोड़ रुपये का सौदा किया है। C-295 विमान इंडियन एयरफाॅर्स के एवरो-748 विमान की जगह लेगा। ये विमान छह दशक पहले इंडियन एयरफाॅर्स में शामिल हुए थे। C-295 विमान का उपयोग सैन्य उपकरण और आपूर्ति पहुंचाने के लिए किया जाता है।
2026 में तैयार होगा भारत में पहला स्वदेशी C-295 विमान
यह विमान ऐसी जगहों पर भी पहुंच सकता है जहां भारी परिवहन विमान नहीं पहुंच सकते. टाटा एडवांस्ड सिस्टम्स 2024 के मध्य तक C-295 विमान का निर्माण शुरू कर देगा। फिलहाल इसकी फाइनल असेंबली लाइन का काम चल रहा है। भारत में पहला स्वदेशी C-295 विमान 2026 में तैयार हो जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

4 × 2 =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।