WFI Election: बृजभूषण शरण सिंह के समर्थन में लगे 'दबदबा' वाले पोस्टर और होर्डिंग हटाए गए

लोकसभा चुनाव 2024

पहला चरण - 19 अप्रैल

Days
Hours
Minutes
Seconds

102 सीट

दूसरा चरण - 26 अप्रैल

Days
Hours
Minutes
Seconds

88 सीट

तीसरा चरण - 7 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

94 सीट

चौथा चरण - 13 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

96 सीट

पांचवां चरण - 20 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

49 सीट

छठा चरण - 25 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

58 सीट

सातवां चरण - 1 जून

Days
Hours
Minutes
Seconds

57 सीट

सातवां चरण - 1 जून

Days
Hours
Minutes
Seconds

57 सीट

गोंडा: बृजभूषण शरण सिंह के समर्थन में लगे ‘दबदबा’ वाले पोस्टर और होर्डिंग हटाए गए

WFI Election

भारतीय कुश्ती महासंघ (WFI) की नवनिर्वाचित संस्था को निलंबित किए जाने के बाद भाजपा के सांसद बृजभूषण शरण सिंह के समर्थकों में निराशा छा गई है और उनके समर्थन में लगाए गए ‘दबदबा’ वाले पोस्टर व होर्डिंग हटा दिए गए हैं। ‘दबदबा’ का दावा कर खुशियां मनाने वाले बृजभूषण के समर्थकों की आवाज उस समय कमजोर पड़ गई, जब खेल मंत्रालय ने भारतीय कुश्ती महासंघ की नवनिर्वाचित संस्था को निलंबित कर दिया और व्यवस्था संचालन के लिए इंडियन ओलम्पिक एसोसिएशन को नयी संस्था गठित करने का निर्देश दिया। सरकार के इस फैसले के बाद जगह-जगह लगाए गए ‘दबदबा’ वाले पोस्टर और होर्डिंग उतारे जाने लगे। 4 पहिया वाहनों से भी ‘दबदबा’ वाले स्टीकर हटा दिए गए हैं।

नड्डा से मिलने के बाद क्या बोले बृजभूषण सिंह?

भारतीय कुश्ती महासंघ (WFI) के पूर्व अध्यक्ष बृजभूषण शरण सिंह ने रविवार को दिल्‍ली में कहा था कि उन्होंने इस खेल से संन्यास ले लिया है क्योंकि उनके पास कई अन्य जिम्मेदारियां हैं जिनमें अगले साल होने वाला लोकसभा चुनाव भी शामिल है। बृजभूषण ने भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा से मिलने के बाद यह टिप्पणी की। इससे पहले खेल मंत्रालय ने WFI की नवनिर्वाचित संस्था को अगले आदेश तक निलंबित कर दिया था। सिंह के करीबी लोगों द्वारा भारतीय कुश्ती महासंघ पर कब्ज़ा करने के बाद कुछ प्रमुख पहलवानों द्वारा अपना विरोध फिर से शुरू करने के बाद उत्पन्न हुए संकट को कम करने के लिए नड्डा ने सिंह को एक बैठक के लिए बुलाया था।

WFI के चुनाव 21 दिसंबर को हुए थे जिसमें बृजभूषण के विश्वासपात्र संजय सिंह और उनके पैनल ने बड़े अंतर से जीत दर्ज की थी। संजय सिंह ‘बबलू’ के निर्वाचन के बाद सांसद के खेमे में उल्लास का माहौल था। बृजभूषण शरण सिंह और उनके गोंडा सदर सीट से विधायक पुत्र प्रतीक भूषण शरण सिंह ने अपने समर्थकों के समक्ष स्वयं ‘दबदबा तो था, है और रहेगा’ का नारा बुलंद किया था। इतना ही नहीं, ‘दबदबा’ को लेकर बैनर और पोस्टर गाड़ियों समेत क्षेत्र में कई स्थान पर लगवाए गए थे।

 

अध्यक्ष बनने के बाद संजय सिंह, भाजपा सांसद बृजभूषण सिंह के साथ दो दिन पूर्व अयोध्या पहुंचे थे और हनुमान गढ़ी में माथा टेककर आशीर्वाद लिया था। इस दौरान साधु-संतों व समर्थकों की उपस्थिति में बृजभूषण ने अपने सम्बोधन के दौरान जोश में आकर कहा था, ‘‘दबदबा तो है, दबदबा तो रहेगा, ये तो भगवान ने दे रखा है। बजरंग बली की जय।’’ बृजभूषण छह बार के सांसद हैं और उनके बेटे प्रतीक भूषण सिंह गोंडा सदर से लगातार दूसरी बार भाजपा विधायक हैं। स्थानीय लोग इस मुद्दे पर बोलने में संयम बरत रहे हैं, लेकिन सिंह के समर्थक निराश दिखे। सिंह के इस दावे के बाद कि वह कुश्ती को अलविदा कह रहे हैं, पहलवान गोंडा और पड़ोसी अयोध्या के अखाड़ों में दैनिक अभ्यास से दूर रहे।

भाजपा ने कही ये बात

WFI की नवनिर्वाचित संस्था के निलंबन का बचाव करते हुए उत्तर प्रदेश भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष भूपेन्द्र सिंह चौधरी ने रविवार को बाराबंकी में कहा था कि केंद्रीय खेल मंत्रालय की कार्रवाई किसी के दबाव के कारण नहीं थी और उसने उचित प्रक्रिया का पालन किया। गोंडा जिला भाजपा अध्यक्ष अमर किशोर कश्यप ने खेल मंत्रालय के फैसले को ‘अच्छी सोच वाला’ बताया, जिसका हर किसी को सम्मान करना चाहिए। गोंडा के जिला कांग्रेस अध्यक्ष प्रमोद मिश्रा ने भी खेल मंत्रालय के फैसले का स्वागत किया है। गोंडा के समाजवादी पार्टी के नेता सूरज सिंह ने कहा कि सरकार का फैसला ‘किसी व्यक्ति की हार नहीं बल्कि अहंकार’ की हार है।

 

देश और दुनिया की तमाम खबरों के लिए हमारा YouTube Channel ‘PUNJAB KESARI’ को अभी subscribe करें। आप हमें FACEBOOK, INSTAGRAM और TWITTER पर भी फॉलो कर सकते हैं।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

15 − six =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।