J&K : कश्मीर में पुलिस ने पत्रकारों के घरों पर मारे छापे, ऑनलाइन धमकियां मिलने के बाद की कार्रवाई

जम्मू-कश्मीर में कुछ पत्रकारों को आतंकवादी संगठनों से ऑनलाइन धमकी मिलने के सिलसिले में पुलिस ने गुरुवार को तीन जिलों में कुछ पत्रकारों के घरों समेत कई स्थानों पर छापेमारी की।

केंद्र शासित प्रदेश जम्मू-कश्मीर में कुछ पत्रकारों को आतंकवादी संगठनों से ऑनलाइन धमकी मिलने के सिलसिले में पुलिस ने गुरुवार को तीन जिलों में कुछ पत्रकारों के घरों समेत कई स्थानों पर छापेमारी की। इस मामले में श्रीनगर पुलिस ने ट्वीट किया, ‘‘पत्रकारों को ऑनलाइन धमकी मिलने के मामले में श्रीनगर, बडगाम और पुलवामा जिले में कई स्थानों पर छापेमारी की जा रही है।’’ पुलिस के अनुसार, इसी मामले में कुछ दिन पहले इसी तरह की छापेमारी में मिली जानकारी के आधार पर यह कार्रवाई की जा रही है। आतंकवादी संगठनों द्वारा इस्तेमाल किए जाने वाले ‘कश्मीर फाइट’ ऑनलाइन पेज पर पत्रकारों के नाम की एक सूची जारी की गई थी और दावा किया गया था कि वे सुरक्षा व ख़ुफिया एजेंसियों के इशारे पर काम कर रहे हैं। इसके बाद से स्थानीय मीडिया संस्थानों के लिए काम कर रहे कम से कम पांच पत्रकार अपनी नौकरियों से इस्तीफा दे चुके हैं।
पुलिस प्रवक्ता ने कहा कि श्रीनगर, बडगाम और पुलवामा में सात जगहों पर छापे मारे गए। उन्होंने कहा, आज जिन जगहों पर छापे मारकर तलाशी ली गई उनमें श्रीनगर में शौकत मोटा, खाकसार नदीब अदनान, पाम्पोर में हाजी हयात के आवास, श्रीनगर में हाजी हयात का दफ्तर, बडगाम में इशफाक रेशी, श्रीनगर में आसिफ डार (विदेश में बसा हुआ) और साकिब मगलू के परिसर हैं। उपरोक्त में से कुछ को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया गया है। हालांकि, जिनके घरों में पहले तलाशी ली गयी थी, उन्हें पूछताछ के लिए दैनिक आधार पर समन किया जा रहा है। 
प्रवक्ता के अनुसार तलाशी के दौरान, संबंधित दलों ने सभी कानूनी औपचारिकताओं और मानक संचालन प्रक्रियाओं का पेशेवर रूप से पालन किया तथा मोबाइल, कंप्यूटर, लैपटॉप, पैनड्राइव, सिम कार्ड, जिहादी साहित्य, बैंकिंग दस्तावेज, डमी गन और अमेरिकी एवं रूसी मुद्रा नोट सहित आपत्तिजनक सामग्री बरामद की गई और जब्त कर ली गई। उन्होंने कहा कि, मौजूदा मामले में जांच तेजी से चल रही है और अग्रिम स्तर पर है। प्रवक्ता ने कहा, ‘‘आम जनता से पुलिस के साथ सहयोग करने का और इस मामले से संबंधित कोई भी जानकारी श्रीनगर पुलिस के संज्ञान में लाने का अनुरोध किया जाता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

1 × five =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।