Search
Close this search box.

जम्मू-कश्मीर में स्थिति ‘बहुत अच्छी’ है और आगे भी सुधार हो रहा है: CRPF DG

केंद्रीय रिज़र्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) के महानिदेशक (डीजी) कुलदीप सिंह ने बुधवार को कहा कि जम्मू-कश्मीर में स्थिति बहुत अच्छी है और इसमें और सुधार हो रहा है।

केंद्रीय रिज़र्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) के महानिदेशक (डीजी) कुलदीप सिंह ने बुधवार को कहा कि जम्मू-कश्मीर में स्थिति बहुत अच्छी है और इसमें और सुधार हो रहा है। वह बल के 83वें स्थापना दिवस से पहले ‘डीजी परेड’ की अध्यक्षता कर रहे थे। मुख्य कार्यक्रम में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह को शिरकत करनी है।  
162 आतंकवादी और माओवादी मार गिराए गए 
सीआरपीएफ प्रमुख सिंह ने यह भी कहा कि 2021-22 में अभियानों के दौरान बल ने 162 आतंकवादी और माओवादी मार गिराए गए, 1500 को गिरफ्तार किया और 750 अन्य को आत्मसमर्पण करने के लिए मजबूर किया, जबकि बल के 12 कर्मियों ने अपने जीवन का बलिदान दिया और 169 अन्य घायल हुए। सीआरपीएफ जम्मू के एम ए स्टेडियम में शनिवार को अपने वार्षिक 83वें स्थापना दिवस परेड का आयोजन करेगी और संयोग से, यह पहली बार है कि बल दिल्ली-एनसीआर के बाहर अपना वार्षिक दिवस मना रहा है। 
सिंह ने स्टेडियम में डीजी परेड के इतर पत्रकारों से कहा, “(जम्मू-कश्मीर में) स्थिति बहुत अच्छी है। सीआरपीएफ नागरिक अधिकारियों की सहायता कर रही है और स्थानीय सरकार को भी सहायता प्रदान कर रही है। स्थिति में बहुत सुधार हुआ है और आगे भी सुधार हो रहा है।”  
सीआरपीएफ महिला ‘डेयर डेविल्स’ ने मोटरसाइकल से हैरतअंगेज़ स्टंट दिखाए 
सीआरपीएफ की अलग अलग बटालियनों के जवानों ने परेड प्रस्तुत की और सीआरपीएफ महिला ‘डेयर डेविल्स’ ने मोटरसाइकल से हैरतअंगेज़ स्टंट दिखाए। सिंह ने कहा कि डीजी परेड पूर्ण अभ्यास की तरह होता है। गृह मंत्री के कार्यक्रम के बारे में पूछने पर, खासकर, शुक्रवार को उच्च स्तरीय सुरक्षा समीक्षा की बैठक की अध्यक्षता करने की खबरों पर, सिंह ने कहा कि उन्हें इस बारे में कोई जानकारी नहीं है। 
उन्होंने इसके साथ ही आगे कहा, “केंद्र सरकार ने विभिन्न बलों को निर्देश दिया है कि वह देश के विभिन्न स्थानों पर वार्षिक दिवस परेड आयोजित करें और लोगों को शक्ति प्रदर्शन से रू-ब-रू कराएं।” सीआरपीएफ के प्रमुख ने कहा, “इससे कर्मियों के साथ-साथ नागरिकों, विशेषकर युवाओं को प्रेरणा मिलेगी। वहीं, यह राष्ट्रीय एकता में भी मदद करेगा।” घाटी में छुट्टी पर गए सीआरपीएफ के एक जवान की हाल में हत्या के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि इस साल इस तरह की यह पहली घटना है लेकिन सुरक्षा एजेंसियों ने तुरंत कार्रवाई की और अपराधी को कम से कम समय में गिरफ्तार कर लिया।  
आतंकवादियों का कोई धर्म नहीं होता..वे कहीं भी हों, सुरक्षा बल पहुंचेंगे और उन्हें खत्म कर देंगे 
शोपियां जिले के चेक चोटीपोरा गांव में आतंकियों ने सीआरपीएफ जवान मुख्तार अहमद की उनके घर पर 12 मार्च को गोली मारकर हत्या कर दी थी। आतंकवादियों द्वारा छुपने के लिए धार्मिक स्थलों का इस्तेमाल करने के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा, आतंकवादियों का कोई धर्म नहीं होता..वे कहीं भी हों, सुरक्षा बल पहुंचेंगे और उन्हें खत्म कर देंगे। 
इससे पहले सीआरपीएफ प्रमुख ने परेड को संबोधित करते हुए कहा कि 2021-2022 में हथियार और गोलाबारूद का बड़ा जखीरा पकड़ा गया है जिनमें 415 हथियार, 13,000 गोलियां, 1400 किलोग्राम विस्फोटक, 225 ग्रेनेड, 115 बम, 615 आईईडी, 2400 डेटोनेटर और 5336 जिलेटिन की छड़ें शामिल हैं। उन्होंने कहा कि इसी के साथ 25,775 किलोग्राम मादक पदार्थ भी जब्त किए गए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

4 × 1 =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।