Search
Close this search box.

सरकार महिला सशक्तिकरण के लिए प्रतिबद्ध – भजनलाल (Bhajanlal)

राजस्थान के मुख्यमंत्री भजन लाल शर्मा (Bhajanlal Sharma) ने कहा है कि महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने की दिशा में केंद्र, एवं राज्य की डबल इंजन की सरकार तेजी से कार्य कर रही है और यशस्वी प्रधानमंत्री नरेन्द मोदी ने इस दिशा में लखपति दीदी जैसी महत्वपूर्ण योजना की शुरूआत की है जिसके तहत प्रदेश में 11.24 लाख महिलाओं को लाभान्वित किया जाएगा।

women

Highlights:

  • महिलाओं को आर्थिक रूप से आत्मनिर्भर बनाने का लक्ष्य 
  • किसानों के लिए कल्याणकारी उपाय
  • युवाओं, शिक्षा और खेलों पर ध्यान

शिक्षा में महिलाओं को सशक्त बनाना

श्री शर्मा शुक्रवार को नागौर के मारवाड़ मूंडवा में वीर तेजा महिला शिक्षण एवं शोध संस्थान के वार्षिकोत्सव एवं कन्या छात्रावास भवन के शिलान्यास समारोह पर आयोजित सभा को संबोधित कर रहे थे। मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार महिलाओें एवं छात्राओं के सर्वांगीण विकास के लिए प्रतिबद्धता के साथ कार्य कर रही है। नारी शक्ति को प्राथमिकता देते हुए राज्य सरकार की नीतियों एवं कार्यक्रमों की रूपरेखा तैयार की जा रही है। उन्होंने कहा कि महिलाओं को आर्थिक रूप से आत्मनिर्भर बनाने के लिए दो लाख नए महिला सेल्फ हेल्प ग्रुप बनाने और 28 लाख महिलाओं को महिला सशक्तिकरण क्रेडिट कार्ड योजना के माध्यम से एक लाख रुपए तक का ऋण उपलब्ध कराने का कार्य किया जाएगा। शिक्षा के उचित अवसर उपलब्ध कराने के लिए राज्य सरकार छात्राओं को सह-शिक्षा महाविद्यालयों एवं पॉलिटेक्निक एवं अभियांत्रिकी महाविद्यालयों में 30 प्रतिशत आरक्षण देने के लिए भी प्रतिबद्ध है।

women empowerment

राजस्थान सरकार के किसानों के लिए कल्याणकारी उपाय

उन्होंने कहा कि श्री मोदी की गारंटी के अनुसार महिलाओं को 450 रुपए में सिलेण्डर भी दिया जा रहा है। श्री शर्मा ने कहा कि राज्य सरकार युवाओं एवं किसानों के कल्याण के लिए तत्परता के साथ कार्य कर रही है। सरकार ने अपने पहले बजट 2024-25 (लेखानुदान) में प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के तहत किसानों को देय वार्षिक वित्तीय सहायता छह हजार से आठ हजार रुपए तक करने, 2023-24 में गेंहू के न्यूनतम समर्थन मूल्य के अतिरिक्त 125 रुपए प्रति कि्वंटल बोनस देने सहित कृषक कल्याण के लिए महत्वपूर्ण निर्णय लिए हैं।

राजस्थान सरकार का युवाओं, शिक्षा और खेलों पर ध्यान

उन्होंने कहा कि युवाओं को रोजगार के समुचित अवसर देने व उनकी प्रतिभाओं को निखारने के लिए भी राज्य सरकार वृहद, स्तर पर कार्य कर रही है। अब प्रदेश के गांव-ढाणी तक खेल सुविधाओं का विस्तार भी किया जाएगा ताकि प्रदेश की युवा प्रतिभाएं 2028 के ओलंपिक के लिए पूर्ण आत्मविश्वास के साथ तैयारी कर सकें। मुख्यमंत्री ने आशा व्यक्त करते हुए कहा कि वीर तेजा महिला शिक्षण एवं शोध संस्थान छात्राओं को उत्कृष्ट शिक्षा उपलब्ध कराने में महती भूमिका निभाएगा। इस अवसर पर चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री गजेन्द, सिंह खींवसर ने कहा कि यह संस्थान शैक्षिक, व्यावसायिक एवं रोजगारपरक शिक्षा उपलब्ध कराने की दिशा में अभूतपूर्व कार्य कर रहा है। इस संस्थान में मेडिकल एजुकेशन पाठ्यक्रम प्रारम्भ करने के लिए विभाग की ओर से हरसंभव मदद की जाएगी। इस अवसर पर संसदीय कार्य मंत्री जोगाराम पटेल, सार्वजनिक निर्माण राज्य मंत्री डॉ। मंजू बाघमार, राज्यसभा सांसद राजेंद, गहलोत, पूर्व केंद्रीय राज्य मंत्री सी.आर। चौधरी तथा पूर्व सांसद ज्योति मिर्धा सहित स्थानीय जनप्रतिनिधि एवं वरिष्ठ अधिकारी मौजूद थे।

 

देश और दुनिया की तमाम खबरों के लिए हमारा YouTube Channel ‘PUNJAB KESARI’ को अभी subscribe करें। आप हमें FACEBOOK, INSTAGRAM और TWITTER पर भी फॉलो कर सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

8 + fifteen =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।