राजस्थान सरकार ने पूरे किए तीन साल, CM गहलोत ने गिनाई अपनी उपलब्धियां, विपक्ष ने साधा निशाना

राजस्थान में कांग्रेस नीत सरकार ने आज यानि शुक्रवार को अपने कार्यकाल के तीन वर्ष पूरे कर लिए है। इस अवसर पर राजस्थान में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने इसे ‘संवेदनशील, पारदर्शी एवं जवाबदेह सरकार के तीन वर्ष के कार्यकाल को सफल करार देते हुए जनता को बधाई दी।

राजस्थान में कांग्रेस नीत सरकार ने आज यानि शुक्रवार को अपने कार्यकाल के तीन वर्ष पूरे कर लिए है। इस अवसर पर राजस्थान में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने इसे ‘संवेदनशील, पारदर्शी एवं जवाबदेह सरकार के तीन वर्ष के कार्यकाल को सफल करार देते हुए जनता को बधाई दी, वहीं मुख्य विपक्षी दल ने इसे लेकर उनकी सरकार पर निशाना साधा। 
वसुंधरा राजे ने साधा गहलोत सरकार पर निशाना 

भाजपा नेता और पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने कहा कि झूठे वादों से बनी गहलोत सरकार तीन सालों में जनता की हर परीक्षा में विफल रही। राज्य की अशोक गहलोत सरकार ने अपने तीन साल शुक्रवार को पूरे किए। गहलोत ने 17 दिसंबर 2018 को मुख्यमंत्री पद की शपथ ली थी।  
मुख्यमंत्री गहलोत ने इस अवसर पर शुक्रवार को अपनी सरकार की उपलब्धियों को बताने वाला विज्ञापन शेयर करते हुए ट्वीट किया, ‘‘राज्य की संवेदनशील, पारदर्शी एवं जवाबदेह सरकार के सफल 3 वर्ष पूर्ण होने पर मैं सभी को हार्दिक बधाई देते हुए प्रदेशवासियों की खुशहाली, सुख-समृद्धि, स्वस्थ जीवन और चहुंमुखी विकास की कामना करता हूं।’’ 
हमारी सरकार पूरी तरह से, 100 प्रतिशत खरी उतरी है 
उन्होंने लिखा है, ‘‘आइए हम सब मिलकर राजस्थान के चहुंमुखी विकास के लिए पूरी निष्ठा एवं संकल्पबद्धता से अपने कदम बढ़ाएं और मन, वचन व कर्म से इसमें सहभागी बनकर अपनी भूमिका निभाएं।’’ कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा ने यहां सरकार के प्रदर्शन के बारे में पूछे जाने पर कहा, ‘‘जिस आशा और अपेक्षा से राजस्थान की जनता ने कांग्रेस की सरकार बनाई थी उस आशा और अपेक्षा पर हमारी सरकार पूरी तरह से, 100 प्रतिशत खरी उतरी है।’’ 

ओमिक्रॉन के बढ़ते खतरे पर सरकार ने लोगों को किया सतर्क, कहा- गैरजरूरी यात्रा से बचें

सात दशकों में यह पहला मौका है जब राज्य में सरकार कहीं नजर नहीं आ रही 
वहीं भाजपा नेताओं ने तीसरी वर्षगांठ पर सरकार के कामकाज व प्रदर्शन पर सवाल उठाए। पूर्व मुख्यमंत्री राजे ने कहा कि ‘झूठे वादों से बनी गहलोत सरकार तीन सालों में जनता की हर परीक्षा में फेल रही।’ उन्होंने एक बयान में कहा, ‘‘सात दशकों में यह पहला मौका है जब राज्य में सरकार कहीं नजर नहीं आ रही। इन तीन साल में कांग्रेस की गहलोत सरकार राजस्थान की जनता के लिए अदृश्य सी हो गई है। जनता से झूठे वादे करके बनी कांग्रेस सरकार इन तीन साल में जनता की हर परीक्षा में फेल रही है।’’ 
यह इतिहास की अब तक की सबसे नकारा व भ्रष्ट सरकार रही है- सतीश पूनियां 
उधर, दूसरी तरफ, भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनियां ने भी गहलोत सरकार के तीन साल के कार्यकाल पर सवाल उठाते हुए यहां संवाददाताओं से कहा, ‘‘यह इतिहास की अब तक की सबसे नकारा व भ्रष्ट सरकार रही है। राजस्थान अपराधों की राजधानी बन गया है। इनके कार्यकाल में राजस्थान जिस विकास का हकदार था उससे वह वंचित रहा।’’ पूनियां ने कहा, ‘‘सरकार के तीन साल राज्य में किसानों, बेरोजगारों और महिलाओं के लिए काले अध्याय के रूप में देखे जाएंगे।’’  
मुख्यमंत्री निवास पर आयोजित हुआ कार्यक्रम  
इस बीच, सरकार के कार्यकाल के तीन साल पूरे होने पर अनेक कार्यक्रम प्रस्तावित हैं। गहलोत 18 दिसम्बर को यहां जवाहर कला केंद्र में राज्य सरकार की तीन वर्ष की उपलब्धियों पर आधारित चार-दिवसीय प्रदर्शनी ‘आपका विश्वास-हमारा प्रयास’ का उद्घाटन करेंगे। वहीं दोपहर में मुख्यमंत्री निवास पर आयोजित मुख्य समारोह में ऊर्जा, जल संसाधन, जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी, सार्वजनिक निर्माण, नगरीय विकास, स्वायत्त शासन, वन, कृषि, सहकारिता, डेयरी एवं उद्योग से सम्बन्धित विकास कार्यों का लोकार्पण एवं शिलान्यास करेंगे।  
गहलोत ने किया कई विकास कार्यों का लोकार्पण 
इनमें करीब 8 हजार 500 करोड़ रुपये की लागत के विकास कार्यों का शिलान्यास एवं करीब 3 हजार 800 करोड़ रुपये की लागत के विकास कार्यों का लोकार्पण होगा। मुख्यमंत्री 19 दिसंबर को 500 से अधिक पुलिस थानों के स्वागत कक्ष, 12 नये पुलिस थाना भवन सहित गृह विभाग के अन्य लोकार्पण करेंगे। वहीं राज्य मंत्रिपरिषद के सदस्य 20 व 21 दिसम्बर को जिला स्तरीय समारोह में जिला स्तरीय विकास प्रदर्शनी, जिला स्तरीय कार्यक्रमों की शुरुआत, लोकार्पण व शिलान्यास करेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

4 × 1 =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।