सूफी संत ख्वाजा मोईनुद्दीन हसन चिश्ती का 811 वां पुण्यतिथि आज, ‘सवा लाख लोगों ने की नमाज अदा’

राजस्थान के अजमेर में सूफी संत ख्वाजा मोईनुद्दीन हसन चिश्ती के 811 वें सालान उर्स के मुबारक मौके पर आज जुम्मे की नमाज अदा की गयी जिसमें करीब सवा लाख जायरीनों एवं अकीदतमंदों ने जुम्मे की नमाज अदा की।

राजस्थान के अजमेर में सूफी संत ख्वाजा मोईनुद्दीन हसन चिश्ती के 811 वें सालान उर्स के मुबारक मौके पर आज जुम्मे की नमाज अदा की गयी जिसमें करीब सवा लाख जायरीनों एवं अकीदतमंदों ने जुम्मे की नमाज अदा की।अजमेर शहर काजी मौलाना तौसिफ अहमद सिद्दीकी ने नमाज अदा कराई। नमाज की शुरूआत दरगाह स्थित शाहजानी मस्जिद में जुम्मे की अजान से हुई। और उसके बाद खुतबा हुआ। 
1674812627 untitled 1 458585
नमाज अदा की और दुआ में हाथ उठाएं
ठीक डेढ बजे दरगाह के पीछे पहाडी पर स्थित बडे पीर साहब की दरगाह से तोप दागी गई जिसके साथ ही सन्नत अदा की गई। 1.35 पर खुतबे की अजान हुई और शहर काजी ने खुत्बा – ए – जुम्मा पढा। 1.45 पर जुम्मे की सामूहिक नमाज अदा की गई। नमाज के लिए दरगाह परिसर के अलावा दरगाह बाजार – धानमंडी- दिल्लीगेट-गंज-महावीर सर्किल तक जायरीन शफे बनाकर सडको पर बैठ गये। ठंड के साथ चिलचिलाती धूप के साथ सभी ने बडी सब, के साथ नमाज अदा की और दुआ में हाथ उठाये।अजमेर से 12 किलोमीटर दूर कायड विश्राम स्थली पर दरगाह कमेटी ने बनाये विशेष डोम्स में जुम्मे की नमाज अदा की।  
जुम्मे की नमाज के लिए विशेष सुरक्षा 
अजमेर के अलावा नजदीकी मुस्लिम बाहुल्य इलाकों पीसांगन गगवाना सोमलपुर ब्यावर आदि स्थानों से भी अकीदतमंदों ने उर्स के दौरान जुम्मे की बडी नमाज अदा की। जुम्मे की नमाज के लिये विशेष सुरक्षा प्रबंध किये गये। प्रशासन – दरगाह कमेटी- अन्जुमन सैय्यदजादगान एवं अन्जुमन शेखजादगान ने विशेष प्रबंध किये। नमाज के बाद जायरीनों के बीच धक्का मुक्की एवं कशमकश का आलम बना रहा। बावजूद इसके नमाज शांतिपूर्ण तरीके से धार्मिक एवं परम्परागत तरीके से निपट गई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

two × four =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।