शुभमन गिल के शतक पर गद-गद हुआ यह दिग्गज

विशाखापट्टनम में खेले जा रहे टेस्ट मैच में भारत की दूसरी पारी में शुभमन गिल ने इंग्लैंड के खिलाफ शानदार शतकीय पारी खेली, जिसे देखकर पूर्व भारतीय क्रिकेटर युवराज सिंह भी उत्साहित नजर आये। युवराज को इस बात की भी खुशी है कि गिल ने अपने बल्ले से आलोचकों का करारा जवाब दिया है।

HIGHLIGHTS

  • शुभमन गिल ने मैच की तीसरी पारी में 104 रनों की उम्दा पारी खेली
  • भारत ने इंग्लैंड को दिया 399 रन का लक्ष्य
  • युवराज सिंह ने कि शुभमन गिल की तारीफ़gill

शुभमन गिल के शतक पर आया युवराज का बयान

शुभमन गिल ने मैच की तीसरी पारी में 104 रनों की उम्दा पारी खेली। टेस्ट फॉर्मेट में यह उनका तीसरा शतक है और तीन नंबर पर बल्लेबाजी करते हुए यह उनका पहला शतक रहा। हालाँकि, जब वह क्रीज पर उतरे थे, तो शुरुआत में काफी परेशानी में लग रहे थे और दो बार उनके खिलाफ एलबीडब्लू की जोरदार अपील भी हुई थी। पहली बार वह बल्ले का अंदरूनी किनारा लगने की वजह से बचे, जबकि दूसरी बार अंपायर कॉल के चलते फैसला उनके पक्ष में गया था। 24 वर्षीय गिल के लिए यह पारी कई मामलों में खास रही। पिछली 12 टेस्ट पारियों में उनके बल्ले से अर्धशतक नहीं निकला था, जिससे टीम में उनकी जगह को लेकर भी सवाल उठना शुरू हो गए थे। उनकी 104 रनों की पारी की बदौलत टीम इंडिया ने इंग्लैंड के सामने दूसरी पारी में जीत के लिए 399 रनों को चुनौतीपूर्ण लक्ष्य रखा है। दाएं हाथ के युवा बल्लेबाज को अपनी इस पारी के लिए फैंस और पूर्व क्रिकेटरों से खूब तारीफ मिल रही है, जिसमें युवराज सिंह का भी नाम शामिल है।


सिक्सर किंग यानी युवराज सिंह ने ट्वीट करते हुए लिखा,

एक बार फिर मौके पर पहुंचे और एक अच्छी संतुलित पारी खेली। 104 रनों की पारी देखकर अच्छा लगा। अच्छा खेला लड़के, बल्ले को बात करने दो।

युवा बल्लेबाज गिल भी अपनी इस पारी से काफी संतुष्ट नजर आये। हालाँकि, उन्हें इस बात का मलाल भी रहा कि वह कुछ और समय के लिए क्रीज पर नहीं खड़े रह पाए। अपनी पारी को लेकर उन्होंने कहा, निश्चित रूप से खुश हूं, लेकिन मुझे कुछ देर और क्रीज पर टिके रहना था, क्योंकि मैं सेट था और मैं और अधिक रन बना सकता था। मेरे आउट होने के बाद हमने विकेट खो दिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

two × 3 =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।