एल्विश यादव की रेव पार्टी को लेकर लंबी पूछताछ, यहां से लाए जाते थे सांप

सांप तस्करी और नोएडा में रेव पार्टी मामले में धीरे-धीरे जांच आगे बढ़ रही है। आरोपियों को रिमांड में लेने के बाद नोएडा पुलिस उनसे कई घंटे की पूछताछ कर चुकी है। इस पूछताछ में पुलिस के सामने कई खुलासे आरोपियों ने किए हैं।Screenshot 17 5

आरोपियों ने यह भी जानकारी दी है कि एल्विश यादव की पार्टियों में बदरपुर से सांप लाए जाते थे। आरोपी राहुल ने पुलिस को बताया है कि वह रेव पार्टी में सांप और जहर का इंतजाम करता था। जैसी डिमांड होती थी, उसी के अनुसार सपेरे से लेकर ट्रेनर और बाकी चीजें प्रोवाइड कराता था। वह इसे दिल्ली के बदरपुर के पास के एक गांव से लाता था। इसे सपेरों का गढ़ माना जाता है।उसने पुलिस को कुछ अन्य आरोपियों के नाम भी बताए हैं जो रेव पार्टी में बीन प्रोग्राम और सांपों का खेल करवाते थे। उनमें से कुछ ऐसे भी हैं। जिनका एल्विश और फाजिलपुरिया से कनेक्शन है। पुलिस उसका पता लगाने में जुटी है।

पुलिस को मिली एल्विश केस से जुड़ी काफी जानकारी

राहुल समेत पांचों आरोपियों की रविवार शाम 54 घंटे की रिमांड पूरी हो गई, जिसके बाद उन्हें जेल भेज दिया गया। पुलिस के मुताबिक एल्विश केस से जुड़ी काफी जानकारी मिल चुकी है। वह अब इन सभी लोगों से पूछताछ करेगी। अभी तक राहुल और एल्विश को आमने-सामने बैठाकर पूछताछ नहीं कराई जा सकी है। जरूरत पड़ने पर राहुल समेत पांचों आरोपियों की भी दोबारा से रिमांड ली जा सकती है। इसके लिए दो से तीन दिन में कोर्ट में रिमांड के लिए अर्जी देगी।

पुलिस पूछताछ के लिए हरियाणवी सिंगर फाजिलपुरिया को भेज सकती है समन

हरियाणवी सिंगर फाजिलपुरिया को भी पुलिस, पूछताछ के लिए नोटिस जारी कर सकती है। एल्विश के साथ उसका वीडियो सामने आ चुका है। राहुल ने अपने बयान में कई बार फाजिलपुरिया का जिक्र भी किया है। राहुल ने पुलिस को बताया कि उसने गुडगांव के फाजिलपुर गांव में पार्टी ऑर्गेनाइज कराई थी।
देश और दुनिया की तमाम खबरों के लिए हमारा YouTube Channel ‘PUNJAB KESARI’ को अभी subscribe करें। आप हमें FACEBOOK, INSTAGRAM और TWITTER पर भी फॉलो कर सकते हैं।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

6 − 1 =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।