दिवाली के बाद बढ़ा है प्रदूषण, अस्थमा के मरीज ऐसे करें अपनी सुरक्षा

दिवाली का त्यौहार बीत चुका है दिवाली पर दिल्ली सरकार के द्वारा पटाखे बैन करने के बावजूद भी जमकर आतिशबाजी हुई है, जिससे प्रदूषण का स्तर फिर से बढ़ा है। प्रदूषण के बढ़ने से अस्थमा और सांस संबंधी बीमारी वाले मरीजों को समस्या होगी। दरअसल जहरीली हवा में सांस लेने से मरीज की सांस लेने वाली नली पर सूजन आने का खतरा रहता है जिससे रिस्पेटरी ट्रैक के आस-पास मसल्स कस जाती हैं इस वजह से सांस लेने में समस्या होने लगती है और खांसी होने लगती है। इससे बचने के लिए आप कुछ आसान टिप्स को फॉलो कर सकते हैं तो आइए जानते हैं इन टिप्स के बारे में।

Screenshot 86 1

ठंड से बचें

अस्थमा के मरीजों को सबसे पहले ठंड से खुद को बचाकर रखना चाहिए। सर्दियों की शुरुआत हो चुकी है ऐसे में जरुरी है कि, गर्म कपड़े पहनकर रखें और गर्म खाने का सेवन करें इससे आप ठंड से बचें रहेंगे और सर्दी-खांसी जैसी समस्याएं नहीं होगी जिससे सांस लेने में भी समस्याएं नहीं होंगी।

एक्सरसाइज करें

सुबह उठकर योग एवं एक्सरसाइज करें इससे शरीर में ऊर्जा बना रहेगी और सांस लेने में तकलीफ नहीं होगी। योगा करने से फेफड़ों में आक्सीजन का प्रवाह बना रहता है जिससे सांस लेने में तकलीफ नहीं होती है।

घर से बाहर जाने से बचें

अस्थमा के मरीजों के लिए दिवाली के तुरंत बाद घर से बाहर निकलना खतरा से भरा हो सकता है, आप सभी जानते हैं इस बार दिवाली पर कितनी आतिशबाजी हुई है। दिवाली पर पटाखे जलने से कार्बन डाईऑक्साइड, कार्बन मोनोऑक्साइड और सल्फर ऑक्साइड जैसी हानिकारक गैस निकलती हैं जिसका अस्थमा के मरीजों पर बहुत बुरा प्रभाव पड़ता है इसलिए बाहर जाने से बचें। यदि बहुत जरुरी है तो मास्क पहन कर ही बाहर जाएं।

स्टीम लें और गले की सिकाई करें

स्टीम लेने और गले की सिकाई करने से भी आपको बहुत लाभ मिलेगा। स्टीम लेने से गला खुलेगा और सांस लेने में परेशानी नहीं होगी इसके अलावा गर्म पानी से गले की सिकाई भी की जा सकती है। अपनी अस्थमा की दवाइयां अपने पास रखें और कुछ भी परेशानी होने पर इनहेलर का उपयोग करें। यदि आपको ज्यादा परेशानी हो रही है तो तुरंत ही डॉक्टर से संपर्क करें।

Disclaimer: इस आर्टिकल में बताई गई विधि, तरीक़ों और सुझाव पर अमल करने से पहले डॉक्टर या संबंधित एक्सपर्ट की सलाह जरूर लें. Punjabkesari.com इसकी पुष्टि नहीं करता है।

देश और दुनिया की तमाम खबरों के लिए हमारा YouTube Channel ‘PUNJAB KESARI’ को अभी subscribe करें। आप हमें FACEBOOK, INSTAGRAM और TWITTER पर भी फॉलो कर सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

one × five =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।