Pran Pratishtha of Ram Mandir : संत समाज से लेकर परमवीर चक्र विजेता तक, देखिए कार्यक्रम के मेहमानों की पूरी लिस्ट

Pran Pratishtha of Ram Mandir

Pran Pratishtha of Ram Mandir : अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण अब अंतिम चरण में है। राम मंदिर की प्राण प्रतिष्ठा एक ऐतिहासिक क्षण होगा। । इस दौरान गर्भगृह में भगवान रामलला की मूर्ति स्थापित की जाएगी। मूर्ति स्थापित करने का काम वाराणसी के संत लक्ष्मी कांत दीक्षित करेंगे। प्राण प्रतिष्ठा के बाद रामलला के दर्शन के लिए देशभर से श्रद्धालु अयोध्या आएंगे। लाखों रामभक्तों को इस पावन क्षण का इंतजार था राम मंदिर की प्राण प्रतिष्ठा 22 जनवरी को होगी। इस दिन भगवान राम की मूर्तियों को मंदिर में स्थापित किया जाएगा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और राज्यपाल आनंदीबेन पटेल भी इस कार्यक्रम में शामिल होंगे।Pran Pratishtha of Ram Mandir

22 जनवरी को होगी प्राण प्रतिष्ठा (Pran Pratishtha of Ram Mandir)

प्राण प्रतिष्ठा के लिए देशभर से 4,000 संत और 2,500 अन्य लोग आमंत्रित किए गए हैं। इनमें वैज्ञानिक, कलाकार, परमवीर चक्र से सम्मानित परिवार और शहीद कारसेवकों के परिवार शामिल हैं। अयोध्या में राम मंदिर की प्राण प्रतिष्ठा 22 जनवरी को होगी। इस दिन भगवान राम की मूर्तियों को मंदिर में स्थापित किया जाएगा। प्राण प्रतिष्ठा का कार्यक्रम दोपहर 12 बजे से 12.45 बजे तक होगा। इसे वाराणसी के संत लक्ष्मी कांत दीक्षित करेंगे।

 PM मोदी होंगे शामिल

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी प्राण प्रतिष्ठा में शामिल होंगे। प्राण प्रतिष्ठा के दौरान प्रधानमंत्री मोदी सबसे पहले पूजन करेंगे. इसके बाद आमंत्रित मेहमान रामलला के दर्शन कर सकेंगे। पूजन के दौरान करीब 3 घंटे से ज्यादा राम जन्मभूमि परिसर में बैठना पड़ेगा इसके अलावा, आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और राज्यपाल आनंदीबेन पटेल भी इस कार्यक्रम में शामिल होंगे। प्राण प्रतिष्ठा के लिए देश भर से 4,000 संतों को आमंत्रित किया गया है। इसके अलावा, वैज्ञानिक, कलाकार, परमवीर चक्र से सम्मानित परिवार, शहीद कारसेवकों के परिवारों और राम मंदिर आंदोलन में अहम भूमिका निभाने वाले व्यक्तियों के परिजनों को भी आमंत्रित किया जाएगा।

अगले दिन से श्रद्धालु रामलला के कर सकेंगे दर्शन

प्राण प्रतिष्ठा के लिए राम जन्मभूमि परिसर में बैठने की सीमा तय की गई है। आमंत्रित मेहमानों को अनिवार्य रूप से आधार कार्ड लाना होगा। मंदिर के आसपास सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं। मंदिर परिसर में सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं और जवानों की तैनाती की गई है। प्राण प्रतिष्ठा के बाद अगले दिन से श्रद्धालु रामलला के दर्शन कर सकेंगे।

देश और दुनिया की तमाम खबरों के लिए हमारा YouTube Channel ‘PUNJAB KESARI’ को अभी subscribe करें। आप हमें FACEBOOK, INSTAGRAM और TWITTER पर भी फॉलो कर सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

twenty − three =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।