मंगलयान मिशन खत्म, इसरो ने की पुष्टि, जानिए अब तक यान ने दिए क्या-क्या उपहार?

भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन ने सोमवार को पुष्टि की है कि मंगलयान का जमीनी स्टेशन से संपर्क टूट गया है, जिसे बहाल नहीं किया जा सकता और इस तरह इस मिशन की…..

भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन ने सोमवार को पुष्टि की है कि मंगलयान का जमीनी स्टेशन से संपर्क टूट गया है, जिसे बहाल नहीं किया जा सकता और इस तरह इस मिशन की जीवन अवधि अब पूरी हो गई है।
6 महीने की अवधि के बावजूद आठ साल तक टिका रहा मंगलयान 
दरअसल, इसरो ने इसके बारे में अद्यतन जानकारी दी है। जिसने मंगल ग्रह की कक्षा में मार्स ऑर्बिटर मिशन के आठ साल पूरे होने के अवसर पर 27 सितंबर को एक राष्ट्रीय बैठक आयोजित की थी। बता दें कि मंगलयान की अवधि केवल 6 महीने थी जिसके बावजूद उसने आठ साल तक काम किया। इसरो ने एक बयान में कहा कि यान से अब संपर्क बहाल नहीं किया जा सकता और यह अपना जीवनकाल पूरा कर चुका है।
मंगलयान ने दिए हैं ये बड़े उपहार 
गौरतलब है कि मंगलयान को पांच नवंबर 2013 को प्रक्षेपित किया गया था और इसे 24 सितंबर 2014 को मंगल की कक्षा में सफलतापूर्वक स्थापित कर दिया गया था। इसरो ने कहा है कि इन आठ वर्षों के दौरान पांच वैज्ञानिक उपकरणों से लैस इस यान ने मंगल ग्रह की सतह की विशेषताओं, इसके आकृति विज्ञान, मंगल ग्रह के वातावरण और इसके बाह्यमंडल पर महत्वपूर्ण वैज्ञानिक समझ का उपहार दिया। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

4 × 3 =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।