पैसे बचाने के लिए Food Bank से खाना लेता था शख्स, वीडियो हुआ वायरल तो चली गई नौकरी!-Indian Origin Man Loses Job After Lifting Free Food From Bank

लोकसभा चुनाव 2024

पहला चरण - 19 अप्रैल

Days
Hours
Minutes
Seconds

102 सीट

दूसरा चरण - 26 अप्रैल

Days
Hours
Minutes
Seconds

88 सीट

तीसरा चरण - 7 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

94 सीट

चौथा चरण - 13 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

96 सीट

पांचवां चरण - 20 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

49 सीट

छठा चरण - 25 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

58 सीट

सातवां चरण - 1 जून

Days
Hours
Minutes
Seconds

57 सीट

सातवां चरण - 1 जून

Days
Hours
Minutes
Seconds

57 सीट

पैसे बचाने के लिए Food Bank से खाना लेता था शख्स, वीडियो हुआ वायरल तो चली गई नौकरी!

indian origin data scientist loses job after lifting free food

अगर आपकी सालाना सैलरी 80 लाख से ऊपर है तो आप खुद की लाइफस्टाइल के साथ किसी अन्य व्यक्ति की लाइफस्टाइल को भी संवार सकते हैं। लेकिन अब एक शख्स से जुड़ा वीडियो सोशल मीडिया पर काफी वायरल हुआ जिसमें उसने कह दिया कि वह फूड बैंक से खाना लेकर सैकड़ों रुपये बचा चुका है। फिर क्या था वीडियो वायरल हुआ और अब खबर है कि शख्स को अपनी नौकरी से हाथ धोना पड़ गया है।

indian origin data scientist loses job after lifting free food
Source-Urban Institute

Food Bank से लेता था खाना

भारतीय मूल के डेटा साइंटिस्ट मेहुल प्रजापति कनाडा में टीडी बैंक में काम करते हैं। उन्होंने कुछ समय पहले एक वीडियो पोस्ट किया था, जिसमें उन्होंने बताया था कि कैसे वह फ्री में खाना लेकर अपना भोजन और किराने का पैसा बचाते है। उन्होंने कहा कि उन्हें एनजीओ, ट्रस्टों और चर्चों द्वारा कॉलेजों और विश्वविद्यालयों में स्थापित फूड बैंकों से किराने का सामान ”मुफ्त” मिलता है।

ये पोस्ट @Slatzism यूजर ने शेयर किया है।

इतना ही नहीं मेहुल वीडियो में अपना भोजन भी दिखाते हैं, जिसमें फल, सब्जियां, ब्रेड, सॉस, पास्ता और डिब्बाबंद सब्जियां शामिल थीं। जैसे ही ये वीडियो सोशल मीडिया पर पोस्ट किया इससे यूजर्स के बीच बहस छिड़ गई।

वायरल वीडियो के बाद गई नौकरी

इसके बाद एक्स पर @Slatzism नामक अकाउंट ने मेहुल का वीडियो शेयर कर शिकायती लहजे में लिखा है, यह शख्स कनाडा के टीडी बैंक में डाटा साइंटिस्ट है। सालाना सैलरी 98,000 डॉलर (यानि लगभग 81 लाख) है, और देखिए कितने गर्व से बता रहा है कि उसे चैरिटी फूड बैंक से कितना मुफ्त खाना मिलता है।

ये पोस्ट @Slatzism यूजर ने शेयर किया है।

इसी यूजर ने कुछ देर बाद टीडी बैंक के ईमेल का एक स्क्रीनशॉट शेयर कर बताया कि मेहुल अब वहां काम नहीं करते। इस ईमेल में टीडी बैंक ने घटना पर खेद व्यक्त करते हुए मेहुल के साथ न जुड़े होने की जानकारी दी थी। हालांकि, हम इस बात कि पुष्टि नहीं करते है कि वीडियो के सामने आने के बाद शख्स को अपनी नौकरी से हाथ धोना पड़ा। एक रिपोर्ट के मुताबिक, मेहुल प्रजापति कभी डेटा साइंटिस्ट के रूप में जॉब नहीं कर रहे थे उन्होंने 17 हफ्तों की सिर्फ इंटर्नशिप की थी।

देश और दुनिया की तमाम खबरों के लिए हमारा YouTube Channel ‘PUNJAB KESARI’ को अभी subscribe करें। आप हमें FACEBOOK, INSTAGRAM और TWITTER पर भी फॉलो कर सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

fifteen + four =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।