दिल्ली HC ने रखा Delhi Excise Policy case को लेकर अमित अरोड़ा के अंतरिम जमानत याचिका आदेश को सुरक्षित

दिल्ली हाई कोर्ट ने मंगलवार को दिल्ली एक्साइज पॉलिसी मनी लॉन्ड्रिंग मामले में आरोपी कारोबारी अमित अरोड़ा की अंतरिम जमानत पर अपना फैसला सुरक्षित रख लिया। उन्होंने अपनी बेटी की बीमारी के आधार पर अंतरिम जमानत मांगी थी।न्यायमूर्ति स्वर्ण कांता शर्मा ने याचिकाकर्ता और प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) की ओर से दलीलें सुनने के बाद आदेश सुरक्षित रख लिया।
Screenshot 13 4

अमित अरोड़ा  की बेटी है अस्वस्थ

अमित अरोड़ा की ओर से पेश हुए वरिष्ठ अधिवक्ता विकास पाहवा ने तर्क दिया कि आवेदक अपनी बेटी की बीमारी के आधार पर अंतरिम जमानत की मांग कर रहा था। याचिकाकर्ता के वकील ने कहा कि अरोड़ा की बेटी अस्वस्थ है और मेडिकल रिकॉर्ड के अनुसार उसे अपने माता-पिता की देखभाल की आवश्यकता है।वकील ने कहा, आवेदक की बेटी की 2 दिसंबर को SAT (स्कॉलैस्टिक असेसमेंट टेस्ट) परीक्षा है और वह अपनी बीमारी के कारण इसकी तैयारी नहीं कर रही है।

मनीष सिसोदिया हैं अभी तक पुलिस की हिरासत में

वरिष्ठ अधिवक्ता ने यह भी कहा कि आवेदक स्वयं ठीक नहीं है। वह 29 नवंबर, 2022 से हिरासत में हैं। आरोप पत्र दायर किया गया है और संज्ञान लिया गया है, उन्होंने कहा।वहीं, ईडी के वकील ने जमानत याचिका का विरोध किया. ईडी के वकील ने कहा कि मेडिकल रिकॉर्ड के अनुसार, आवेदक की बेटी को परिवार के सदस्यों की देखभाल की आवश्यकता है। उन्होंने तर्क दिया कि परिवार में अन्य सदस्य भी हैं जो उनकी बेटी की देखभाल कर सकते हैं।दिल्ली उत्पाद शुल्क नीति मामला मनी लॉन्ड्रिंग मामले में ईडी और मुख्य मामले में केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) द्वारा आरोप पत्र के साथ दायर दस्तावेजों की जांच के चरण में है।एक्साइज पॉलिसी मामले में दिल्ली के पूर्व उपमुख्यमंत्री मनीष सिसौदिया और आम आदमी पार्टी सांसद संजय सिंह दिल्ली हिरासत में हैं।उनकी अगली सुनवाई 14 नवंबर को होगी सुनवाई।
देश और दुनिया की तमाम खबरों के लिए हमारा YouTube Channel ‘PUNJAB KESARI’ को अभी subscribe करें। आप हमें FACEBOOK, INSTAGRAM और TWITTER पर भी फॉलो कर सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

6 − 6 =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।