लोकसभा चुनाव 2024

पहला चरण - 19 अप्रैल

Days
Hours
Minutes
Seconds

102 सीट

दूसरा चरण - 26 अप्रैल

Days
Hours
Minutes
Seconds

89 सीट

तीसरा चरण - 7 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

94 सीट

चौथा चरण - 13 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

96 सीट

पांचवां चरण - 20 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

49 सीट

छठा चरण - 25 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

57 सीट

सातवां चरण - 1 जून

Days
Hours
Minutes
Seconds

57 सीट

लोकसभा चुनाव पहला चरण - 19 अप्रैल

Days
Hours
Minutes
Seconds

102 सीट

पीएम मोदी ने समुद्र में डूबी भगवान कृष्ण की नगरी के किये दर्शन , कहा-दशकों पुराना सपना आज पूरा हो गया

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को गुजरात के द्वारका में समुद्र में गहरी डुबकी लगाई और द्वारकाधीश मंदिर में पूजा-अर्चना की।
कई लोगों ने भगवान कृष्ण के प्रति उनकी भक्ति के लिए पीएम मोदी की जमकर प्रशंसा की
जैसे ही पीएम मोदी की स्कूबा गियर पहनने और जलमग्न द्वारका शहर में पूजा करने की तस्वीरें सोशल मीडिया पर पोस्ट की गईं, इसने नेटिज़न्स को चौंका दिया। कई लोगों ने भगवान कृष्ण के प्रति उनकी भक्ति के लिए पीएम मोदी की जमकर प्रशंसा की, जबकि अन्य ने कई हिंदू पूजा स्थलों का कायापलट सुनिश्चित करने के लिए उनकी सरकार के संकल्प की सराहना की।


पानी में डूबी द्वारिका नगरी में प्रार्थना करना बहुत ही दिव्य अनुभव – पीएम मोदी
एक्स पर अपना अनुभव साझा करते हुए पीएम मोदी ने यह भी लिखा, ”पानी में डूबी द्वारिका नगरी में प्रार्थना करना बहुत ही दिव्य अनुभव था। मुझे आध्यात्मिक वैभव और शाश्‍वत भक्ति के एक प्राचीन युग से जुड़ाव महसूस हुआ। भगवान श्रीकृष्ण हम सभी को आशीर्वाद दें।”
विशेष रूप से, द्वारका हिंदू धर्म के लिए बहुत महत्व रखता है, क्योंकि ऐसा कहा जाता है कि इस पौराणिक शहर पर स्वयं भगवान कृष्ण का शासन था। प्रचलित मान्यता के अनुसार, भगवान कृष्ण के पृथ्वी से चले जाने के बाद भूमि समुद्र द्वारा निगल ली गई थी।
पीएम मोदी ने आज की द्वारकाधीश की गहरी यात्रा को अपना लंबे समय से पोषित सपना बताया।

 

View this post on Instagram

 

A post shared by Narendra Modi (@narendramodi)


मैं आज भावनाओं से भरा हुआ हूं दशकों पुराना सपना आज पूरा हो गया – पीएम मोदी
उन्‍होंने कहा, “मैं हमेशा वहां जाने और प्राचीन द्वारका शहर के अवशेषों को छूने के लिए उत्सुक था। पीएम मोदी ने कहा, ”मैं आज भावनाओं से भरा हुआ हूं… दशकों पुराना सपना आज पूरा हो गया।”
मोदी आर्काइव एक्स हैंडल ने बताया कि श्रीराम जन्मभूमि मंदिर का खाका भी कृष्ण की भूमि से रखा गया था और पीएम मोदी भी उस बैठक का हिस्सा थे।
एक्स हैंडल का कहना है, “1991 में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) की एक बैठक वृंदावन में हुई थी और इसमें नरेंद्र मोदी ने भाग लिया था। उस समय वह भाजपा कार्यकर्ता के रूप में काम कर रहे थे और संघ के प्रतिनिधि के रूप में बैठक में शामिल हुए थे।”
इस बैठक में आरएसएस ने अयोध्या में अपने राम जन्मभूमि आंदोलन को और तेज करने और अंततः देवता के जन्मस्थान पर एक भव्य राम मंदिर के निर्माण का संकल्प लिया।
विश्‍व हिंदू परिषद ने कारसेवा फिर से शुरू की
बाद के वर्षों में मुस्लिम आक्रमणकारियों द्वारा छीन लिए गए भगवान राम भक्तों के ‘अधिकार’ को बहाल करने के लिए एक बड़ा आंदोलन देखा गया। मथुरा में इस ‘धर्म संसद’ के बाद विश्‍व हिंदू परिषद (विहिप) ने कारसेवा फिर से शुरू की, जिससे घटनाओं की एक श्रृंखला शुरू हुई।
भगवान राम की जन्मस्थली अयोध्या आज अंतर्राष्ट्रीय सुर्खियां बटोर रही है और देश और दुनिया भर से आगंतुकों को आकर्षित कर रही है।
लाखों भगवान राम भक्त और आम तौर पर हिंदू सदियों पुराने दलदल को खत्म करने में मदद के लिए पीएम मोदी को श्रेय देते हैं।
पीएम मोदी की द्वारकाधीश मंदिर की यात्रा
अयोध्या के भव्य परिसर में राम लला की स्थापना को 500 साल पुराने सपने की परिणति के रूप में देखा जाता है और पीएम मोदी को वह व्यक्ति माना जाता है, जिन्होंने ‘भगवान राम को उनके योग्य स्थान पर पहुंचाया’।
भगवान कृष्ण के ‘भक्तों’ को भी मोदी सरकार से अतीत की गलतियों को सुधारने और कृष्ण जन्मभूमि के ‘मूल चरित्र’ को बहाल करने की बहुत उम्मीदें हैं।
चुनाव नजदीक आने के साथ, पीएम मोदी की द्वारकाधीश मंदिर की यात्रा को इसी संदर्भ में देखा जा रहा है, कई लोगों का मानना है कि यह एक स्पष्ट संदेश है कि पीएम मोदी के ‘तीसरे कार्यकाल’ के दौरान कृष्ण जन्मभूमि का जीर्णोद्धार एक प्रमुख एजेंडा होगा।
कुछ लोग इसे बेबुनियाद अटकलें कहकर खारिज कर सकते हैं, लेकिन भाजपा के घोषणापत्र और देशभर के मंदिर गलियारों पर पीएम मोदी का व्यक्तिगत ध्यान दिखाता है कि ‘गति अभी शुरू हुई है’।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

17 − thirteen =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।