अलर्ट! बढ़ता जा रहा है Online Romance Scam

Online Scam

Online Scam: जितना तेजी से टेक्नोलॉजी बढञ रही है, उतनी ही तेजी से धोखादड़ी के मामले भी बढ़ रही है। AI-जेनरेटेड डीपफेक इतने परफेक्ट तरीके से काम करते हैं कि Hackers लोगों को आसानी से अपने झांसे में ले लेते हैं और उन्हें मोटी चपत भी लगाते हैं। हाल ही में एक रिपोर्ट में यह सामने आया है, कि भारत में 66% लोग Online Dating Scam का शिकार हुए हैं।

Highlights

  • भारत में बढ़ रहे हैं dating scam
  • AI-जेनरेटेड डीपफेक से रक रहे हैं ठगी

Online Dating Scam का शिकार हो रहे लोग

भारत में लगातार साइबर क्राइम बढ़ते जा रहे हैं। एडवांस टेक्नोलॉजी के बीच Romance Scam तेजी से बढ़ रहे हैं। देश में करीब 66% लोग Online Dating Scam का शिकार हुए हैं। वहीं पिछले साल करीब 43% भारतीय AI वॉयस Scam के शिकार बने और उससे दोगुना लोगों से पौसा लूटा गया। एक रिपोर्ट के अनुसार हाल ही के सालों में Online Dating Scam में बड़ा बदलाव आया है, जिसमें पारंपरिक रणनीति को जेनरेटिव AI और डीपफेक जैसी एडवांस टेक्नोलॉजी के साथ विलय कर दिया गया है।

dating2

AI-जेनरेटेड डीपफेक का शातिर दिमाग

AI-जेनरेटेड डीपफेक इतने परफेक्ट अब तक 69% लोगों को अपना शिकार बना चुके हैं। दो-तिहाई (69%) से ज़्यादा भारतीयों का कहना है, कि वे AI और किसी व्यक्ति की वास्तविक आवाज के बीच अंतर नहीं कर सकते। Scammers अब online dating घोटालों में ज़्यादा विश्वसनीय व्यक्तित्व बनाने के लिए जेनरेटिव AI और डीपफेक टेक्नोलॉजी का लाभ उठा रहे हैं।

dating3

Scammers फेक id बना कर लोगों के फ्रेंड बनते हैं। उसके बाद वे प्राइवेट कन्वर्सेशन्स में जाने के लिए मजबूर करते हैं, जहां इनिशियल साइट की सुरक्षात्मक लेयर नष्ट हो जाती हैं। जेनेरेटिव AI या डीपफेक की भागीदारी के चलते सावधानी जरुरी है।

सिक्योरिटी है जरूरी

रिपोर्ट में उल्लेख किया गया है कि ये स्कैम अक्सर फेसबुक जैसे प्लेटफार्मों पर शुरू होते हैं, पीड़ितों की सिक्योरिटी के साथ खिलवाड़ करते हैं। रिपोर्ट में कहा गया है, ‘एक परेशान करने वाली प्रवृत्ति उभर रही है, जहां घोटालेबाज नियमित रूप से वृद्ध व्यक्तियों को निशाना बनाते हैं, खासकर वे जो विधवा हैं या मेमोरी लॉस से पीड़ित हैं

dating4

Scammers से रहें सावधान

ऐसे में जब भी आप फेसबुक जैसे प्लैफॉर्म पर किसी से Connect होते हैं। नए मिले कनेक्शनों से पैसे के अनुरोधों पर तत्काल खतरे की घंटी बजनी चाहिए. उन्होंने सलाह दी कि उन तस्वीरों और वीडियो की जांच करना महत्वपूर्ण है जो जानबूझकर बैकग्राउंड डिटेल छिपाते हैं, ऑनलाइन वेरिफिकेशन में बाधा डालते हैं।

देश और दुनिया की तमाम खबरों के लिए हमारा YouTube Channel ‘PUNJAB KESARI’ को अभी subscribe करें। आप हमें FACEBOOK, INSTAGRAM और TWITTER पर भी फॉलो कर सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

3 + 3 =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।