विधानसभा उपचुनाव लड़ने जा रहे 235 उम्मीदवारों में से 44 पर आपराधिक मामले दर्ज: ADR

देश में चुनावी सुधार के क्षेत्र में काम करने वाली संस्था ‘एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक राइट्स’ के मुताबिक इस साल विधानसभा उपचुनाव लड़ने जा रहे 235 उम्मीदवारों में कम से कम 44 ने अपने खिलाफ आपराधिक मामले होने की घोषणा की है।

देश में चुनाव को बड़ा महत्वपूर्व माना जाता है। लेकिन इनमें भाग लेने वाले उम्मीदवार साफ-सुथरी छवि के नहीं होते है। चुनावी सुधार के क्षेत्र में काम करने वाली संस्था ‘एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक राइट्स’ के मुताबिक इस साल विधानसभा उपचुनाव लड़ने जा रहे 235 उम्मीदवारों में कम से कम 44 ने अपने खिलाफ आपराधिक मामले होने की घोषणा की है।
19 प्रतिशत उम्मीदवार दागी 
नेशनल इलेक्शन वाच और एडीआर ने 30 अक्टूबर को होने जा रहे विधानसभा उपचुनावों के लिए 235 उम्मीदवारों के शपथपत्रों का विश्लेषण किया। एडीआर की एक रिपोर्ट में कहा गया है कि इनमें से 44 उम्मीदवारों (19 प्रतिशत) ने अपने खिलाफ आपराधिक मामले होने की घोषणा की है।
रिपोर्ट में कहा गया है, ‘‘इनमें से 36 (15 प्रतिशत) ने अपने खिलाफ गंभीर आपराधिक मामले होने की घोषणा की है।’’ इसमें कहा गया है कि 77 उम्मीदवार या 33 प्रतिशत उम्मीदवार करोड़पति हैं और उनकी संपत्ति का औसत मूल्य 2.99 करोड़ रुपये है।
235 उम्मीदवारों में 18 महिलाएं हैं।’’
चुनाव निगरानी संस्था ने कहा, ‘‘235 उम्मीदवारों में 18 महिलाएं हैं।’’ वहीं, मध्य प्रदेश, दादरा एवं नगर हवेली और हिमाचल प्रदेश में तीन सीटों पर होने वाले लोकसभा उपचुनाव के लिए 26 उम्मीदवारों के शपथपत्रों का एडीआर ने विश्लेषण किया है। एडीआर ने रिपोर्ट में कहा कि चार उम्मीदवारों (15 प्रतिशत)ने अपने खिलाफ आपराधिक मामले होने की घोषणा की है, जिनमें से एक ने अपने खिलाफ गंभीर आपराधिक मामलों की घोषणा की है।
उल्लेखनीय है कि असम, पश्चिम बंगाल, मध्य प्रदेश, हिमाचल प्रदेश, मेघालय, बिहार, कर्नाटक, राजस्थान, आंध्र प्रदेश, हरियाणा, महाराष्ट्र, मिजोरम, नगालैंड और तेलंगाना में विधानसभा उपचुनाव होने हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

15 − three =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।