पीयूष गोयल ने कोविड-19 के मद्देनजर देश में चिकित्सा ऑक्सीजन की उपलब्धता सुनिश्चित करने के तरीकों पर की चर्चा

वाणिज्य और उद्योग मंत्री पीयूष गोयल ने बृहस्पतिवार को वरिष्ठ अधिकारियों के साथ बढ़ते कोविड-19 मामलों के मद्देनजर देश में पर्याप्त चिकित्सा ऑक्सीजन की उपलब्धता सुनिश्चित करने के प्रभावी तरीकों पर चर्चा की।

वाणिज्य और उद्योग मंत्री पीयूष गोयल ने बृहस्पतिवार को वरिष्ठ अधिकारियों के साथ बढ़ते कोविड-19 मामलों के मद्देनजर देश में पर्याप्त चिकित्सा ऑक्सीजन की उपलब्धता सुनिश्चित करने के प्रभावी तरीकों पर चर्चा की। कोविड-19 की दूसरी लहर के दौरान देश भर में मेडिकल ऑक्सीजन की मांग में अभूतपूर्व वृद्धि हुई थी। पहली लहर के दौरान 3,095 मीट्रिक टन की आवश्यकता की तुलना में दूसरी लहर के समय मांग लगभग 9,000 मीट्रिक टन पर पहुंच गई।
चिकित्सा उद्देश्य के लिए ऑक्सीजन की आपूर्ति, दिसंबर 2019 में प्रति दिन 1,000 टन थी जो इस साल मई में करीब 10 गुना बढ़कर 9,600 टन प्रति दिन हो गयी। गोयल ने एक ट्वीट में कहा, ‘‘देश में चिकित्सा ऑक्सीजन की तैयारियों के बारे में एक समीक्षा बैठक की। कोविड​​​​-19 महामारी के खिलाफ लड़ाई को मजबूत करने के लिए पर्याप्त चिकित्सा ऑक्सीजन उपलब्धता सुनिश्चित करने के प्रभावी तरीकों पर विचार-विमर्श किया।’’
केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के बृहस्पतिवार को अद्यतन किए गए आंकड़ों के अनुसार, भारत में 180 ताजा मामलों के साथ ओमीक्रोन संक्रमितों की कुल संख्या 961 हो गई है। ये एक दिन में सामने आए ओमीक्रोन के सर्वाधिक मामले हैं। इनमें से 320 लोग संक्रमण मुक्त हो चुके हैं या अन्य स्थानों पर चले गए हैं। ये मामले 22 राज्यों तथा केन्द्र शासित प्रदेशों में सामने आए। स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार, भारत में एक दिन में कोविड-19 के 13,154 नए मामले सामने आने के बाद देश में संक्रमितों की संख्या बढ़कर 3,48,22,040 हो गई है। वहीं, उपचाराधीन मरीजों की संख्या बढ़कर 82,402 हो गई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

eleven − 7 =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।