लोकसभा चुनाव 2024

पहला चरण - 19 अप्रैल

Days
Hours
Minutes
Seconds

102 सीट

दूसरा चरण - 26 अप्रैल

Days
Hours
Minutes
Seconds

89 सीट

तीसरा चरण - 7 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

94 सीट

चौथा चरण - 13 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

96 सीट

पांचवां चरण - 20 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

49 सीट

छठा चरण - 25 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

57 सीट

सातवां चरण - 1 जून

Days
Hours
Minutes
Seconds

57 सीट

दूसरा चरण - 26 अप्रैल

Days
Hours
Minutes
Seconds

89 सीट

‘Animal’ का टीज़र देख feminist groups हुए एक्टिव, संदीप रेड्डी को एक्ट्रेस को ‘बेल्ट ट्रीटमेंट’ देने की कह दी बात

निर्देशक संदीप रेड्डी वंगा अपनी फिल्में जैसे कबीर सिंह और अर्जुन रेड्डी में controversial characters को हीरो की तरह परदे पर दर्शाने के लिए काफी फेमस हैं । अब संदीप रेड्डी अपनी नयी फिल्म लेकर आ गए हैं, ‘एनिमल।  बॉलीवुड सुपरस्टार रणबीर कपूर स्टार्रर फिल्म animal  का टीज़र रिलीज़ हो चूका है और आते ही सुर्ख़ियों में आ गया है। फिल्म में संदीप रेड्डी की पिछले फिल्मों की तरह ही  compelling storytelling और hypermasculine alpha male  कैरेक्टर्स  को दर्शाया गया है। 

image 3020023

फिल्म “एनिमल” में रणबीर कपूर एक  गैंगस्टर करैक्टर प्ले करते नज़र आ रहे हैं और आते के साथ ही कई feminists के निशाने पर आ गए हैं। दरअसल फिल्म के टीज़र में एक सीन दिखाया गया है जहां, फिल्म की लीड एक्ट्रेस रश्मिका मंदना रणबीर से उनके पापा के बारें में सवाल करती है,उस पर रणबीर कपूर का करैक्टर रश्मिका मंदना पर काफी ज़ोर से  चिल्लाता है साथ ही रणबीर रश्मिका को काफी विवादित स्टेटमेंट देते हैं। जिसके बाद अब कई women welfare और feminists सोशल मीडिया पर एक्टिव हो गए हैं और अपनी अपनी प्रतिक्रियाएं दे रहे हैं। 

 

View this post on Instagram

 

A post shared by Alia Bhatt 💛 (@aliaabhatt)

एक फेमिनिस्ट यूज़र  ने वांगा की आलोचना करते हुए कह दिया कि अगर उनमें इतनी हिम्मत है तो उन्हें ऐसे दृश्य लिखने चाहिए जहां एक्ट्रेस खुद को मजबूती से पेश कर सके। वहीं एक यूजर ने वंगा पर तंज कस्ते हुए कहा, ‘संदीप वंगा का धन्यवाद करना चाहूंगी की उन्होंने रणबीर को रश्मिका को थप्पड़ मारते हुए नहीं दिखाया। वहीं एक और ने लिखा, ‘वंगा कितने दयालु हैं, जो उन्होंने सीन में रणबीर द्वारा रश्मिका को ‘belt treatment’ नहीं दिलवाई’ 

image 889299

बता दें कि इससे पहले भी फिल्म ‘कबीर सिंह’ में कबीर और प्रीती के ‘टॉक्सिक रिलेशनशिप’ को नोर्मलाइस करने के लिए काफी विवाद हुआ था। लोगों का कहना था कि कबीर सिंह जैसी फिल्में युवा पीढ़ी को भटका सकती है। कबीर जैसी फिल्मों का युवा पीढ़ी पर काफी बुरा प्रभाव पड़ सकता है। साथ ही फिल्म कबीर सिंह की बॉक्स ऑफिस सक्सेस देख लोग हैरान थे कि देश की युवा पीढ़ी इस तरह के व्यवहार को इतना पसंद कर रही है। 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

fifteen − 12 =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।