Noida: 9 महीने में नालों से मिले 72 शव, पुलिस का दावा, 90 प्रतिशत डेड बॉडी की हुई पहचान

Highlights

  • नोएडा के नालों से मिले 72 शव
  • एसीपी रजनीश वर्मा के मुताबिक 70 फीसदी शव बहकर आए
  • करीब 90 फीसदी शव की हो चुकी पहचान

उत्तर प्रदेश के नोएडा में एक बड़ा मामला सामने आया है। बीते 9 महीने में नोएडा के नालों में करीब 72 शव मिले हैं। जिनमें कई की पहचान भी हुई है। जिनमें कई हत्या के आरोपी पकड़े भी गए। इस पर पुलिस का दावा है कि 60 से 70 प्रतिशत शव दूसरे राज्यों से बहकर भी नोएडा में पहुंचे हैं। ज्यादातर मामलों में हत्या कर शवों को नालों में फेंकने का मामले सामने आए हैं।

दिल्ली को नोएडा से जोड़ने वाले नाले और नदी के रास्ते से बहकर नोएडा पहुंची

एसीपी रजनीश वर्मा के अनुसार 60 से 70 प्रतिशत डेड बॉडी दिल्ली को नोएडा से जोड़ने वाले नाले और नदी के रास्ते से बहकर नोएडा पहुंची हैं। शिनाख्त के बाद इनका पता दिल्ली निकला है। कुछ बॉडी हिंडन को जोड़ने वाले शहरों से आ सकती है। जिसमें गाजियाबाद और आसपास के गांव शामिल हैं। बाकी शव भिखारी या शराबी के हैं।

क्राइम किसी और स्टेट में होता है और बॉडी नालों और नदियों से बहते हुए पहुंच रही

एसीपी के अनुसार करीब 90 फीसदी शव की पहचान हो चुकी है। बाकी शवों की शिनाख्त की कोशिश की जा रही है। नोएडा यूपी का बार्डर है। यह दिल्ली को करीब 8 से ज्यादा छोटे बड़े सड़क मार्ग को जोड़ता है। इसके अलावा दो बड़े नाले और एक नदी भी दिल्ली को नोएडा से जोड़ती है। उन्होंने कहा कि हो सकता है कि क्राइम किसी और स्टेट में होता है और बॉडी नालों और नदियों से बहते हुए यहां पहुंच रही है। मंगलवार को भी एक डेड बॉडी नोएडा के फेज-2 नाले में मिली। जिसकी शिनाख्त की कोशिश की जा रही है।

आगे ACP ने कहा राजधानी दिल्ली से आने वाली यमुना नोएडा के एक बड़े हिस्से करीब 5 हजार हेक्टेयर के डूब क्षेत्र को कवर करती है। साथ ही शाहदरा ड्रेन दिल्ली के अशोक नगर (बॉर्डर) से यमुना तक जाती है। कोंडली नाला मयूर विहार से नोएडा में प्रवेश करते हुए 80 फीसद सेक्टर्स को कवर करता हुआ यमुना में गिरता है। यही नोएडा का मेन ड्रेन भी है। हरौला नाला कोंडली नाले को जोड़ता है। हिंडन नदी गाजियाबाद से होते हुए नोएडा के छिजारसी से एंट्री करती है और यमुना में गिरती है।

देश और दुनिया की तमाम खबरों के लिए हमारा YouTube Channel ‘PUNJAB KESARI’ को अभी subscribe करें। आप हमें FACEBOOK, INSTAGRAM और TWITTER पर भी फॉलो कर सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

6 − four =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।