लोकसभा चुनाव 2024

पहला चरण - 19 अप्रैल

Days
Hours
Minutes
Seconds

102 सीट

दूसरा चरण - 26 अप्रैल

Days
Hours
Minutes
Seconds

89 सीट

तीसरा चरण - 7 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

94 सीट

चौथा चरण - 13 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

96 सीट

पांचवां चरण - 20 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

49 सीट

छठा चरण - 25 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

57 सीट

सातवां चरण - 1 जून

Days
Hours
Minutes
Seconds

57 सीट

लोकसभा चुनाव पहला चरण - 19 अप्रैल

Days
Hours
Minutes
Seconds

102 सीट

पृथ्वी पर दो गुना हुई Oxygen तो क्या होगा असर? Science expert ने दिया दिलचस्प जवाब

‘ऑक्सीजन’ पृथ्वी पर रहने वाले सभी प्राणियों के लिए जरूरी है। हम जानते है कि यदि पृथ्वी पर ऑक्सीजन 5 सेकंड के लिए भी न रहें तो बहुत कुछ तबाह हो जाएगा। लेकिन क्या आपने कभी सोचा है कि अगर पृथ्वी पर ऑक्सीजन दो गुना हो जाए तो क्या होगा? अब आपके भी मन में सवाल आया होंगा कि सच में पृथ्वी पर ऑक्सीजन के दो गुना होने से क्या होगा? तो लोगों की इसी जिज्ञासा का जवाब एक ऑनलाइन प्लेटफॉर्म पर साइंस एक्‍सपर्ट ने दिया। एक्सपर्ट के पृथ्वी में होने वाले बदलाव वाले जवाब ने लोगों को भी हैरान कर दिया।

 

why sky blue 2db86ae

 

पेड़ छू लेंगे आसमान

आपको बता दें कि पृथ्वी पर इस समय 21 प्रतिशत ऑक्सीजन है और अगर ये ही ऑक्सीजन दो गुनी हो जाए तो, धरती बिल्‍कुल अलग ही रूप में नजर आएगी। पृथ्‍वी पर मौजूद करोड़ों जानवर 2 से 3 गुना बड़े हो जाएंगे। यानी की छोटे-छोटे कीड़े भी आपको विशाल मकड़ी की तरह दिखेंगे। मकड़ी चूहे की तरह और चूहे खरगोश की साइज के हो जाएंगे। पौधों की बात करें तो धरती पर मौजूद सबसे लंबे पेड़ और भी विशालकाय हो जाएंगे। ये पड़े इतने बड़े हो जाएंगे की बादलों को भी छू लेंगे।

trees 3294681 1280

इंसान भी हो जाएंगे विशालकाय

वहीं, इंसानों की बात करें तो हर इंसान लगभग 7 फीट और लंबा हो जाएगा। इंसानों में इतनी ताकत आ जाएंगी की इंसान हल्क की तरह नजर आएंगे। न्यूट्रोफिल में हानिकारक वायरस और बैक्टीरिया से लड़ने की ताकत आ जाएगी। पेट्रोल और डीजल से चलने वाली गाड़ियां बिना फ्यूल के ही चलने लगेंगी। कागज के पेपर प्‍लेन, जिसे बच्‍चे उड़ाया करते हैं, उस पर भी आप मीलों सफर कर पाएंगे। एक सबसे बड़ा खतरा होगा कि इसमें आग काफी तेजी से लगेगी। वहीं, इससे ऑक्सीजन विषाक्तता ( ऑक्सीजन का जहरीला होना) की स्थित‍ि भी आ सकती है, जिससे कोशिकाओं में बड़े पैमाने पर हानिकारक ऑक्सीकरण होगा। इससे मृत्यु भी हो सकती है।

HD wallpaper giant man adrian sommeling giant man creative woman situation kota tua fantasy city hand

300 मिलियन साल पहले क्या था?

आपको जानकर हैरानी होगी कि आज से करीब 300 मिलियन साल पहले बिल्‍कुल ऐसा ही हाल था। उस समय पृथ्वी पर ऑक्‍सीजन का स्‍तर करीब 30 प्रत‍िशत था। पुरातात्‍व‍िक रिसर्च से पता चला है कि तब जीव ज्यादा विशालकाय और ताकतवर हुआ करते थे। बता दें कि ऑक्‍सीजन हमारे शरीर के आकार, मस्तिष्‍क का साइज, उसके विकास का आधार है। हमारी बॉडी में जितने भी ग्‍लूकोज, रेड ब्‍लड सेल्‍स बनते हैं सब ऑक्‍सीजन की वजह से ही बनते हैं. अगर इन्‍हें ज्‍यादा ऑक्‍सीजन मिलेगी तो इनका विकास भी इसी तरह काफी तेज होगा।

अब इससे आप समझ गए होंगे की ऑक्सीजन के प्रतिशत का कम और ज्यादा होना किस तरह से जीवित प्राणियों पर असर डालता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

five + 20 =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।