Search
Close this search box.

प्राण प्रतिष्ठा समारोह के दौरान अमृतसर के मंदिरों में दिखी रौनक, खुशी में जमकर हुई आतिशबाजी

अयोध्या के राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा समारोह के दौरान पूरे देश में उत्साह दिखाई दिया।इस दौरान अमृतसर (Amritsar) भी पूरी तरह श्री राम के रंग में रंगा नजर आया। हर गली मोहल्ले और बाजार में राम की झंडियां खूब देखने को मिलीं। जगह-जगह पर लगे भव्य लंगर व महानगर में निकाली गई शोभायात्राओं ने पूरे शहर को राममय बना दिया। जगह-जगह स्वागती गेट व शहर की इमारतों और मंदिरों को रंग बिरंगी लाइटों से सजाया गया।

  • अमृतसर के मंदिरों में दिखी रौनक
  • शहर की इमारतों और मंदिरों को रंग बिरंगी लाइटों से सजाया गया
  • खुशी में जमकर हुई आतिशबाजी

 राम मंदिर में धार्मिक समारोह, संकीर्तन हुआ

आपको बता दें श्री राम तीर्थ में भी भव्य धार्मिक आयोजन किया गया। श्री राम तीर्थ स्थित माता सीता जी के मंदिर, माता सीता जी की रसोई, लव-कुश मंदिर और श्री राम मंदिर में धार्मिक समारोह, संकीर्तन चलता रहा। हजारों की संख्या में श्रद्धालु श्री राम तीर्थ में नतमस्तक होने पहुंचे। सारे मंदिर परिसर को लाइट से सजाया गया। शाम को सरोवर की आरती और इसके बाद भव्य दीपमाला और आतिशबाजी की गई।

8 14

आतिशबाजी देर रात करीब साढे़ 12 बजे तक चली

श्री दुर्ग्याणा मंदिर में सारा दिन भव्य धार्मिक कार्यक्रम मंदिर कमेटी की अध्यक्ष प्रो. लक्ष्मी कांता चावला और महासचिव अरुण खन्ना की अगुवाई में चलते रहे। सारा मंदिर रंग बिरंगी लाइटों से सजाया गया। देर शाम मंदिर परिसर में 50 हजार से अधिक दीप जला कर दीपावली मनाई गई। 70 हजार से अधिक रंग बिरंगी लाइटों के बल्व जला कर रोशनी की छटा बिखेरी गई थी। सूर्य ढलते ही शुरू हुई आतिशबाजी देर रात करीब साढे़ 12 बजे तक चली रही।

7 11

15 क्विंटल से अधिक लड्डुओं का प्रसाद बांटा गया

गांव कसेल के मंदिर में भी भव्य कार्यक्रम आयोजित किए गए। 15 क्विंटल से अधिक लड्डुओं का प्रसाद बांटा गया। सारा दिन भगत मंडलियां प्रभु श्री राम का जस गायन करती रही। महानगर के 700 के करीब छोटे व बड़े मंदिरों की सजावट आकर्षण पैदा कर रही थी। लगभग सभी मंदिर में एलईडी लगा कर प्राण प्रतिष्ठा का सीधा प्रसारण दिखाया गया। शहर में मजीठा रोड, छेहरटा से अमृतसर और शहर के अंदरूनी इलको ढाब खटीकां में भव्य शोभा व कलश यात्राएं निकाली गईं।

9 11

कार्यक्रम के दौरान सुरक्षा के कड़े इंतजाम

कार्यक्रमों के दौरान किसी भी तरह की कोई अप्रिय घटना न हो जाए इसको लेकर सारे शहर को पुलिस छावनी में तब्दील कर दिया गया था। श्री दुर्ग्याणा मंदिर समेत प्रत्येक छोटे व बड़े मंदिर के बाहर सुरक्षा कर्मचारी तैनात थे।

देश और दुनिया की तमाम खबरों के लिए हमारा YouTube Channel ‘PUNJAB KESARI’ को अभी subscribe करें। आप हमें FACEBOOK, INSTAGRAM और TWITTER पर भी फॉलो कर सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

11 − 2 =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।