लोकसभा चुनाव 2024

पहला चरण - 19 अप्रैल

Days
Hours
Minutes
Seconds

102 सीट

दूसरा चरण - 26 अप्रैल

Days
Hours
Minutes
Seconds

89 सीट

तीसरा चरण - 7 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

94 सीट

चौथा चरण - 13 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

96 सीट

पांचवां चरण - 20 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

49 सीट

छठा चरण - 25 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

57 सीट

सातवां चरण - 1 जून

Days
Hours
Minutes
Seconds

57 सीट

दूसरा चरण - 26 अप्रैल

Days
Hours
Minutes
Seconds

89 सीट

असम CM ने कांग्रेस पर राजस्थान को हिंदू राज्य नहीं बनने का लगाया आरोप , कहा – जब तक चांद और सूरज रहेगा, राजस्थान हिंदू राज्य रहेगा

असम सीएम हिमंत बिस्वा सरमा ने गुरुवार को कहा कि अगर उनके राज्य में कन्हैया लाल की हत्या जैसी घटना हुई होती तो वे 10 मिनट के भीतर हिसाब बराबर कर देते।
असम सीएम हिमंत बिस्वा सरमा ने कोटा के नयापुर स्टेडियम में परिवर्तन यात्रा रैली को किया संबोधित
गुरुवार दोपहर कोटा के नयापुर स्टेडियम में परिवर्तन यात्रा रैली को संबोधित करते हुए, सरमा ने कहा कि अगर असम में कन्हैया लाल की हत्या जैसी घटना हुई होती, तो मैं 10 मिनट के भीतर हिसाब बराबर कर देता। कुछ ही मिनटों में दूसरी घटना की खबर टीवी पर प्रसारित हो जाती, लेकिन अशोक गहलोत जैसे लोग सिर्फ कुर्सी पर बैठे हैं, कुछ नहीं कर रहे हैं।
अगर कन्हैया लाल की हत्या असम में हुई होती तो मैं 10 मिनट में हिसाब बराबर कर देता – सरमा
बता दे कि पेशे से दर्जी कन्हैया लाल की कथित तौर पर इस्लाम का अपमान करने के आरोप में जून 2022 में उदयपुर में बेरहमी से हत्या कर दी गई थी। एनआईए ने पिछले वर्ष दिसंबर में इस मामले में 11 आरोपियों के खिलाफ आरोपपत्र दाखिल किया था।
इस कृत्य को फिल्माने वाले और इस्लाम के अपमान का बदला लेने की डींगें हांकने वाले 2 लोगों द्वारा की गई भीषण हत्या से उदयपुर और देश के अन्य हिस्सों में तनाव और विरोध प्रदर्शन शुरू हो गया था। कैमरे पर दिखे दोनों हमलावरों को गिरफ्तार कर लिया गया है।
अन्नपूर्णा भोजन पैकेट योजना गरीबों के लिए नहीं है। इसका मतलब किसी की जेब भरना था – असम सीएम सरमा
सभा को संबोधित करते हुए असम सीएम ने कहा कि मैं 22 साल तक कांग्रेस में था। पार्टी चुनाव से पहले वितरण योजनाएं लाती है, और फिर उनके माध्यम से चुनाव खर्च का ख्याल रखती है। अन्नपूर्णा भोजन पैकेट योजना गरीबों के लिए नहीं है। इसका मतलब किसी की जेब भरना था।
उन्‍होंने कहा कि अगर इस योजना का उद्देश्य गरीब लोगों की मदद करना है, तो इसे 5 साल पहले क्यों शुरू नहीं किया गया? लोग कोविड महामारी के दौरान भोजन संकट का सामना कर रहे थे। चुनाव के 2 दिन बाद ये सभी योजनाएं बंद हो जाएंगी। राहुल गांधी किस चेहरे के साथ आएंगे राजस्थान? पहले उन्हें गंगा में डुबकी लगानी चाहिए, माफ़ी मांगनी चाहिए और उसके बाद ही राजस्थान आना चाहिए।
अन्नपूर्णा फूड पैकेट योजना इस साल स्वतंत्रता दिवस पर चुनावी राज्य में गहलोत सरकार द्वारा शुरू की गई थी। इस पहल के तहत, राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम (एनएफएसए) के अंतर्गत आने वाले परिवारों को उचित मूल्य की दुकानों से आवश्यक वस्तुओं वाले मासिक अन्नपूर्णा भोजन पैकेट मुफ्त में मिलेंगे।
असम सीएम ने सरमा ने आगे कहा कि हमें चुनाव की चिंता नहीं है। हम चुनाव से ठीक 3 महीने पहले किसी को खुश नहीं करना चाहते। अगर आप विधायकों को होटल में बिठाकर 35 दिनों तक खाना खिलाएंगे तो विधायकों को इसकी आदत पड़ जाएगी।
अशोक गहलोत ने बहुत बड़ी गलती की – असम सीएम सरमा
उन्‍होंने कहा कि अशोक गहलोत ने बहुत बड़ी गलती की। सचिन पायलट को राहुल गांधी के घर ले जाना चाहिए था। वे दोनों तय कर सकते थे कि सीएम कौन होगा। सीएम बनने के लिए विधायकों को 35 दिनों तक होटल में रखा गया और विधायकों को पता था कि सीएम को ब्लैकमेल किया जा सकता है।
जब तक चांद और सूरज रहेगा, राजस्थान हिंदू राज्य रहेगा – सरमा
सीएम गहलोत पर हमला करते हुए असम सीएम सरमा ने कहा कि गहलोत कहते हैं कि वह राजस्थान को हिंदू राज्य नहीं बनने देंगे। लेकिन राजस्थान में हिंदू हजारों साल से हैं। जब तक चांद और सूरज रहेगा, राजस्थान हिंदू राज्य रहेगा। राजस्थान के लोग कांग्रेस की अनुमति से हिंदू नहीं बने।”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

4 − 1 =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।