बजट 2022 ने मायूस किया, आम लोगों के लिए कुछ भी नहीं: अरविंद केजरीवाल

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि इस कोरोना महामारी के समय बजट से लोगों को बहुत उम्मीद थी, लेकिन आम जनता के लिए कुछ नहीं

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि इस कोरोना महामारी के समय बजट से लोगों को बहुत उम्मीद थी, लेकिन आम जनता के लिए कुछ नहीं है। श्री केजरीवाल ने ट्वीट  कर कहा, ‘‘कोरोना काल में लोगों को बजट से बहुत उम्मीद थी। बजट ने लोगों को मायूस किया। आम जनता के लिए बजट में कुछ नहीं है। महंगाई कम करने के लिए कुछ नहीं।’
’ आम आदमी पार्टी के नेता संजय सिंह ने कहा, ‘‘कोरोना से पीड़ति आम जनता को कोई राहत नहीं। उद्योगपतियों को टैक्स में छूट, जनता को नहीं। किसान को एमएसपी की गारंटी नहीं। पहले दो करोड़ नौकरी का झूठ बोला, अब 60 लाख नौकरी का महाझूठ। वाह रे मोदी जी आपने तो वन्दे भारत के नाम पर 400 ट्रेन पूँजीपतियों को देकर ‘‘धन्धेभारत’’ कर दी।’’ 
उन्होंने कहा कि देश की ‘‘दुर्गति’’ के बाद अब ‘‘पीएम गतिशक्ति मिशन’’ शुरू होगा। बजट की उपलब्धि देश की सरकारी सम्पत्तियों को बेचना है। सपूत सम्पत्ति बढ़ते है, कपूत सम्पत्ति बेचते हैं।
कांग्रेस नेता खड़गे और किसान नेता टिकैत ने किए सवाल
उधर,  राज्यसभा में विपक्ष के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा कि इस साल का बजट सिर्फ अमीरों का बजट है, इसमें गरीबों के लिए कुछ भी नहीं है। पहले उन्होंने जो चीजें कही थीं, उसे दुबारा दोहराया है। उन्होंने कॉरपोरेट टैक्स घटाया, ये अमीरों का बजट है।
इसके साथ ही किसान नेता राकेश टिकैत ने कहा कि बजट का कुछ न कुछ फायदा होता है लेकिन जितना दिखाया जाता है उतना फायदा नहीं होता, दिखाते ज्यादा हैं और मिलता कम है, हमने कहा MSP गारंटी कानून बना दें, इस कानून से कम कीमत में फसलों की खरीद बंद होगी। उन्होंने कहा कि अभी व्यापारियों को इसका फायदा हो रहा है जो कम कीमत में फसलों को खरीदकर MSP में महंगे कीमत में बेचती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

one × three =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।