वाराणसी से बोले PM मोदी- ये भारत ही है जिसकी आजादी के सबसे बड़े नायक को दुनिया महात्मा बुलाती है - Latest News In Hindi, Breaking News In Hindi, ताजा ख़बरें, Daily News In Hindi

लोकसभा चुनाव 2024

पहला चरण - 19 अप्रैल

Days
Hours
Minutes
Seconds

102 सीट

दूसरा चरण - 26 अप्रैल

Days
Hours
Minutes
Seconds

89 सीट

तीसरा चरण - 7 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

94 सीट

चौथा चरण - 13 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

96 सीट

पांचवां चरण - 20 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

49 सीट

छठा चरण - 25 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

57 सीट

सातवां चरण - 1 जून

Days
Hours
Minutes
Seconds

57 सीट

छठा चरण - 25 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

57 सीट

वाराणसी से बोले PM मोदी- ये भारत ही है जिसकी आजादी के सबसे बड़े नायक को दुनिया महात्मा बुलाती है

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इन दिनों उत्तर प्रदेश के अहम दौरे पर है, जहां पर पीएम मोदी ने आज यानी मंगलवार को अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी में अपने दौरे के दूसरे दिन दुनिया के सबसे बड़े मेडिटेशन सेंटर स्वर्वेद महामंदिर पहुंचे।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इन दिनों उत्तर प्रदेश के अहम दौरे पर है, जहां पर पीएम मोदी ने आज यानी मंगलवार को अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी में अपने दौरे के दूसरे दिन दुनिया के सबसे बड़े मेडिटेशन सेंटर स्वर्वेद महामंदिर पहुंचे। यहां उन्होंने सदगुरु सदाफल महाराज को नमन किया और आजादी में उनकी भूमिका का वर्णन करते हुए कहा कि कई संत भी आध्यात्मिक तप छोड़कर आजादी के लिए जुटे थे। हमारे स्वाधीनता संग्राम की ये आध्यात्मिक धारा ​इतिहास में वैसे दर्ज नहीं की गई जैसे की जानी चाहिए थी।  
हमारा देश इतना अद्भुत है कि यहां 
मंदिर परिसर में ही आयोजित जनसभा में पीएम मोदी ने कहा कि हमारा देश इतना अद्भुत है कि यहां जब भी समय विपरीत होता है, कोई न कोई संत-विभूति, समय की धारा को मोड़ने के लिए अवतरित हो जाती है। ये भारत ही है जिसकी आज़ादी के सबसे बड़े नायक को दुनिया महात्मा बुलाती है।  

कल काशी ने भव्य विश्वनाध धाम महादेव के चरणों में अर्पित किया- मोदी 
पीएम मोदी ने कहा कि बनारस जैसे शहरों ने मुश्किल से मुश्किल समय में भी भारत की पहचान, कला , उद्यमिता के बीजों को सहेजकर रखा है। जहां बीज होता है, वृक्ष वहीं से विस्तार लेना शुरू करता है और इसीलिए आज जब हम बनारस के विकास की बात करते हैं तो इससे पूरे भारत के विकास का रोडमैप भी बनता है। पीएम मोदी ने कहा कि कल काशी ने भव्य विश्वनाध धाम महादेव के चरणों में अर्पित किया। आज विहंगम योग का समागम हो रहा है। 

SII के CEO अदार पूनावाला ने बताया कब तक आएगी बच्चों के लिए वैक्सीन, बोले- परीक्षण के आंकड़े रहे शानदार

आज जब संतों की साधन पुण्य फल को प्राप्त करती है तो सुखद सहयोग बनते ही चले जाते हैं। संतो ने देश को एकता के सूत्र में पिरोए रखा। ऐसे कितने ही संत थे जो आध्यात्मिक तप छोड़कर आज़ादी के लिए जुटे, हमारे स्वाधीनता संग्राम की ये आध्यात्मिक धारा ​इतिहास में वैसे दर्ज़ नहीं की गई जैसे की जानी चाहिए थी। 
दिल्ली में रहता हूं तब भी काशी के विकास को गति देने के बारे में सोचता रहता हूं 
पीएम मोदी ने कहा कि आज काशी के कौशल को नई ताकत मिल रही है। स्वास्थ्य के क्षेत्र में सुविधाओं से बनारस बड़े मेडिकल हब के रूप में उभर रहा है। दिल्ली में रहता हूं तब भी काशी के विकास को गति देने के बारे में सोचता रहता हूं। पीएम मोदी ने कहा कि कल रात भी मैंने बनारस के विकास को देखा। गोदौलिया अद्भुत हो गया है। बनारस स्टेशन का विकास  अध्यात्मिता के साथ हुआ है। बनारस देश को नई दिशा दे रहा है। इच्छा शक्ति हो तो परिवर्तन आ सकता है। 
30 लाख लोग बनारस के एयरपोर्ट से आए और गए हैं 
पीएम मोदी ने कहा कि यहां आने वाले पर्यटकों की संख्या दोगुनी हो गई है। कोरोना के काल खंड में भी 30 लाख लोग बनारस के एयरपोर्ट से आए और गए हैं।  काशी की ऊर्जा अक्षुण्ण तो है ही, ये नित नया विस्तार भी लेती रहती है। कल काशी ने भव्य विश्वनाथ धाम को महादेव के चरणों में अर्पित किया और आज विहंगम योग संस्थान का ये अद्भुत आयोजन हो रहा है।  
आज गीता जयंती का पुण्य अवसर भी है 
योग संस्थान का 98वां वार्षिकोत्सव सदगुर सदाफल गुरु के कारागार यात्रा और आजादी के अमृत उत्सव का साक्षी बन रहे हैं। आज गीता जयंती का पुण्य अवसर भी है। आज के ही दिन कुरुक्षेत्र की भूमि में जब सेनाएं आमने-सामने थी, योग, परमात्मा का परम ज्ञान मिला था। सदगुरु सदाफल देव ने समाज के जागरण के लिए विहंगम योग को जन-जन तक पहुंचाने केलिए यज्ञ किया।  
उनकी आध्यात्मिक उपस्थिति को नमन कर रहा हूं- मोदी 
आज वह संकल्प भी हमारे सामने इतने विशाल वटवृक्ष के रूप में खड़ा है। आज 5101 यज्ञ और सेवा प्रकल्पों के रूप में हम उस संत संकल्प की सिद्धि को अनुभव कर रहे हैं। उनकी आध्यात्मिक उपस्थिति को नमन कर रहा हूं। यह महामंदिर जब पूर्ण हो जाएगा तो न सिर्फ काशी नहीं बल्कि पूरी दुनिया के लिए नजराना बन जाएगा। यह भारत ही है, जिसके आजादी के नायक को दुनिया महात्मा बुलाती है। यहीं पर आध्यात्मिक चेतना निरंतर प्रवाहित होती रहती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

seventeen − 14 =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।