Diljit ने जीता दिल, Chamkila Film की कहानी जान हैरान हो जाएंगे आप Diljit Won Hearts, You Will Be Surprised To Know The Story Of Chamkila Film

लोकसभा चुनाव 2024

पहला चरण - 19 अप्रैल

Days
Hours
Minutes
Seconds

102 सीट

दूसरा चरण - 26 अप्रैल

Days
Hours
Minutes
Seconds

88 सीट

तीसरा चरण - 7 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

94 सीट

चौथा चरण - 13 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

96 सीट

पांचवां चरण - 20 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

49 सीट

छठा चरण - 25 मई

Days
Hours
Minutes
Seconds

58 सीट

सातवां चरण - 1 जून

Days
Hours
Minutes
Seconds

57 सीट

सातवां चरण - 1 जून

Days
Hours
Minutes
Seconds

57 सीट

Diljit ने जीता दिल, Chamkila Film की कहानी जान हैरान हो जाएंगे आप

Amar Singh Chamkila: नेटफ्लिक्स पर रिलीज़ हुई मूवी अमर सिंह चमकीला को लोग काफी पसंद कर रहें है लोगो को दिलजीत का किरदार काफी पसंद आ रहा हैं। ये फ़िल्म अमर सिंह चमकीला की निज़ी कहानी पर आधारित है जिनकी २७ साल की उम्र में गोली मार कर हत्या कर दी गई थी आख़िर कौन थे अमर सिंह चमकीला ? कैसे वो एक पंजाब के लोकप्रिय सिंगर बनें ? क्या है उनकी पूरी कहानी चलिए आपको विस्तार से समझाते हैं।

  •  फ़िल्म अमर सिंह चमकीला की निज़ी कहानी पर आधारित है
  •  दर्शको को दिलजीत का किरदार काफी पसंद आया

chamkila 20कौन थे अमर सिंह चमकीला?

छोटे से शहर लुधियाना ज़िले के दुगरी से आने वाले अमर सिंह चमकीला एक ज़ुराबो की फैक्ट्री में काम करते है . घर में पैसों की तंगी होने की वजह से उन्हें मज़बूरन ये काम करना पड़ा काफ़ी कम ऊम्र में उन्होंने अपने घर कि सारी ज़िम्मेदारियों उठा ली थी लेकिन उनका काम में मन नहीं लगता था क्योंकि उनका दिल शुरू से ही संगीत की तरफ़ था वो कहते है ना कि इंसान का मन भी वहीं लगता है जहां उससे काम करने में दिल्चस्पी हो अमर के साथ भी सेम चीज़ थी .फिर उन्होंने अखाड़ो में गाना शुरू किया जिसके बाद उनके गानों को लोकप्रियता मिलने लग गई महज़ २० साल की उम्र में चमकीला ने अपने गानों से पंजाब का दिल जीत लिया था ।उनके गानों को लेकर काफ़ी ज़्यादा विवाद भी हुआ ,कहा जाता है कि उनके गानें काफ़ी अश्लील थे जो पंजाब का माहोल ख़राब कर रहें थे । जिसके बाद भी अमर सिंह चमकीला गाने बनाने से नहीं रुके और ना लोगो ने उनके गाने सुनने बंद किए

1984 के दंगो मे अमर सिहं चमकीला की भूमिका

1984  के दंगों के वक्त अमर सिंह चमकीला की एक एहम भूमिका रहीं। पंजाब में बढ़ता हुआ उग्रवाद थमने का नाम ही नहीं ले रहा था जिसके बाद सारे अखाड़ो को बंद कर दिया गया था लेकिन अमर सिंह तब भी नहीं थमे उन्होंने तब भी अपने गानों से लोगों का मनोरंजन किया उन्होंने ड्रग्स , एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर जैसे मुधों पर गाने बनाने शुरू किए

chamkila 23 1

कैसे हुई हत्या?

कहा जाता है की जितना इंसान ऊपर जाता है उतने दुश्मन बनते रहते है चमकीला के साथ भी कुछ ऐसा ही हुआ था छोटी सी उम्र में उनकी और उनकी बीवी की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी जिसके बाद पूरा पंजाब हिल गया था अब आप ये सोच रहें होंगे कि हत्या कैसे हुई चलिए आपको बता देते है हर बार की तरह उस दिन भी अमर सिंह और उनकी बीवी शो के लिए जा रहें थे जैसे ही उनकी बीवी गाड़ी से बाहर  तो गन मैन ने अमरजोत के सर पर गोली मार दी अमरजोत के सर से बहता हुआ खून देख कर अमर सिंह ने कहा-” बब्बी तेनू की होया” इसके बाद हमालावरों ने अमर सिंह को भी गोलियों से छलनी कर दिया’।सबसे हैरान कर देने वाली बात ये थी की इतने मशहूर सिंगर की हत्या करने के बाद कोई FIR दर्ज नहीं हुई ना तो परिवार का कोई सदस्य थाने गया और ना पुलिस ने संज्ञान लिया हालांकि जब बात बाहर फैलने लगी तब पुलिस ने FIR दर्ज करी लेकिन अभी तक कोई भी अपराधी सामने नहीं आया है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

sixteen + ten =

पंजाब केसरी एक हिंदी भाषा का समाचार पत्र है जो भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश और दिल्ली के कई केंद्रों से प्रकाशित होता है।